वाशिंगटन, अमेरिका. कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर से जूझ रहे भारत की मदद के लिए दुनियाभर के देश आगे आए हैं। इसी बीच अप्रवासी भारतीय भी अपने-अपने देशों से भारत की मदद के लिए मांग उठा रहे हैं। अमेरिकी सांसद और भारतीय मूल के राजा कृष्णमूर्ति (Raja Krishnamoorthi) ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से मांग की है कोरोना संकट के बीच भारत की मदद करते हुए वहां एक्स्ट्राजेनेका वैक्सीन की सप्लाई की जाए। कृष्णमूर्ति ने भारत के अलावा दूसरे उन देशों को भी वैक्सीन सप्लाई की मांग उठाई है, जहां संक्रमण अधिक है। बता दें कि एस्ट्राजेनेका वैक्सीन का अभी अमेरिका में कोई प्रयोग नहीं हो रहा है। क्योंकि कंपनी ने इसके लिए ‘फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन’को इमरजेंसी अप्रूवल के लिए अप्लाई नहीं किया है।

कृष्णमूर्ति ने लिखा पत्र
कृष्णमूर्ति ने ट्वीट किया कि भारत और दूसरे देशों में एस्ट्रोजेनेका वैक्सीन की मदद से कोरोना से लड़ा जा सकता है। कृष्णमूर्ति ने कहा कि वे सांसद कैरोलिन बी मालोनी, जैम्स ई क्लाईबर्न और स्टीफन लिंच के साथ बाइडेन प्रशासन से यह अनुरोध करते हैं, ताकि वैक्सीन को तेजी से उन देशों में सप्लाई किया जा सके, जहां इसकी आवश्यकता है। कृष्णमूर्ति ने इस संबंध में अमेरिकी कांग्रेस को एक पत्र भी लिखा है। इसमें स्वास्थ्य मंत्री जेवियर बेकर्रा और विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन की कोशिशों को सराहा। 

कृष्णमूर्ति ने पत्र में उल्लेख किया कि अमेरिकी नागरिकों की जान बचाने में मिली बड़ी सफलता के बाद अब दूसरे देशों की भी मदद करनी चाहिए। पत्र में 26 अप्रैल को बाइडेन प्रशासन के उस निर्णय की सराहना भी की गई, जिसमें अंतरराष्ट्रीय समुदाय को छह करोड़ एस्ट्राजेनेका वैक्सीन डोज भेजने की बात कही गई थी।

कृष्णमूर्ति ने भारत के अलावा अर्जेंटीना और ब्राजील का जिक्र करते हुए कहा कि यहां बड़े पैमाने पर केस सामने आ रहे हैं। सिर्फ भारत में ही तीन दिनों में 10 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हुए। इसलिए बाइडेन प्रशासन का वैक्सीन भेजने का निर्णय अच्छ है। इस बीच अमेरिका ने प्रतिज्ञा ली है कि वह 4 जुलाई को अपने स्वतंत्रता दिवस के मौके को कोविड फ्री देश के रूप में मनाएगा।

स्वीडन भी भेज रहा एस्ट्राजेनका वैक्सीन
उधर, 'कोवैक्स' अभियान के तहत स्वीडन भारत को एस्ट्राजेनेका वैक्सीन के 10 लाख डोज भेज रहा है। अंतरराष्ट्रीय विकास सहयोग मंत्री पेर ओल्सन फ्रिड ने स्वीडन के प्रसारक एसवीटी पर सोमवार को इस संबंध में घोषणा की थी। स्वीडन के टीका समन्वयक रिचर्ड बर्गस्ट्रॉम के मुताबिक,उनके पास आवश्यकता से अधिक वैक्सीन है। यानी उनके पास 40 से 50 लाख अतिरिक्त एस्ट्राजेनेका वैक्सीन मौजूद है।

 

Asianet News का विनम्र अनुरोधः आइए साथ मिलकर कोरोना को हराएं, जिंदगी को जिताएं...। जब भी घर से बाहर निकलें माॅस्क जरूर पहनें, हाथों को सैनिटाइज करते रहें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। वैक्सीन लगवाएं। हमसब मिलकर कोरोना के खिलाफ जंग जीतेंगे और कोविड चेन को तोडेंगे। #ANCares #IndiaFightsCorona