तानाशाह किम जोंग का आदेश, कहा- अब उत्तर कोरिया में बच्चों के नाम होंगे बम, गन और तोप

| Dec 05 2022, 04:44 PM IST

तानाशाह किम जोंग का आदेश, कहा- अब उत्तर कोरिया में बच्चों के नाम होंगे बम, गन और तोप

सार

उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने आदेश दिया है कि बच्चों के नाम बम, तोप और गन रखे जाएं। बच्चों के नाम के अर्थ नरम शब्द नहीं होने चाहिए। नाम ऐसा होना चाहिए, जिसमें देशभक्ति की झलक हो। 
 

प्योंगयांग। उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन को पसंद नहीं कि उनके देश के बच्चों के नाम नरम मतलब वाले हों। उन्होंने बच्चों के ऐसे नाम रखने के आदेश दिए हैं, जिससे आक्रामकता और देशभक्ति की झलक हो। उन्होंने कहा है कि बच्चों के नाम, बम, गन, तोप या सैटेलाइट होने चाहिए। 

उत्तर कोरिया की सरकार बहुत नरम अर्थ वाले नामों के खिलाफ सख्त कदम उठा रही है। ए री (प्यार करने वाला) और सुएमआई (महान सुंदरता) जैसे नाम लोकप्रिय हैं। इसी तरह के नाम दक्षिण कोरिया में भी फेमस हैं। सरकार का कहना है कि लोग अपने बच्चों को इस तरह का नाम नहीं दें। बच्चों का ऐसा नाम होना चाहिए, जिसमें देशभक्ति हो। उत्तर कोरिया के अधिकारियों ने कहा है कि उनके देश के बच्चों के नाम दक्षिण कोरिया के बच्चों के नामों से मिलते जुलते नहीं होने चाहिए।

Subscribe to get breaking news alerts

बता दें कि उत्तर कोरिया की सरकार द्वारा इस तरह के आदेश जारी किया जाना नया नहीं है। यहां लोगों की पसंद मायने नहीं रखती। लोगों को कब हंसना है और कब नहीं यह तक सरकार तक करती है। अगर कोई सरकारी आदेश का उल्लंधन करे को उसे बेहद कड़ी सजा मिलती है। सरकार के खिलाफ जाने पर यहां मौत की सजा मिलना आम बात है। 

यह भी पढ़ें- कोरोना के कहर से चीन बेहाल, विरोध प्रदर्शन के आगे झुकी जिनपिंग सरकार, कई शहरों में मिली पाबंदियों में छूट

11 दिन हंसने पर मनाही
उत्तर कोरिया के पूर्व तानाशाह किम जोंग टू के निधन के 10वीं वर्षगांठ के चलते सरकार ने 17 दिसंबर से 11 दिनों तक शोक मनाने का आदेश दिया है। इस दौरान लोगों के हंसने, खरीददारी करने और शराब पाने पर पाबंदी है। बता दें कि किम जोंग उन ने साल के अंत से पहले एक महत्वपूर्ण राजनीतिक सभा का भी अनुरोध किया है। इसमें परमाणु और मिसाइल कार्यक्रमों के विकास और अमेरिका के साथ चल रहे विवाद पर चर्चा होगी।

यह भी पढ़ें- महिलाओं के कपड़ों पर निगाह रखती थी ईरान की मॉरल पुलिस, टाइट या छोटे कपड़े पहनने, सिर न ढकने पर ढाती थी जुल्म