चीन: विरोध प्रदर्शन कवर कर रहे BBC के पत्रकार को पुलिस ने पीटा, हथकड़ी लगा ले गए थाने, विवाद बढ़ा तो दी सफाई

| Nov 28 2022, 05:50 PM IST

चीन: विरोध प्रदर्शन कवर कर रहे BBC के पत्रकार को पुलिस ने पीटा, हथकड़ी लगा ले गए थाने, विवाद बढ़ा तो दी सफाई
चीन: विरोध प्रदर्शन कवर कर रहे BBC के पत्रकार को पुलिस ने पीटा, हथकड़ी लगा ले गए थाने, विवाद बढ़ा तो दी सफाई
Share this Article
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

सार

चीन में कोरोना लॉकडाउन के खिलाफ लोग विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। एक ऐसे ही विरोध प्रदर्शन को कवर करने के दौरान बीबीसी के रिपोर्टर को चीन की पुलिस ने पीटा। उसे हथकड़ी लगाकर थाने ले जाया गया। 
 

बीजिंग। चीन कोरोना महामारी रोकने के लिए जीरो कोविड पॉलिसी अपना रहा है। इसके तहत कोरोना संक्रमित मिलने पर पूरे इलाके में सख्त लॉकडाउन लगाया जाता है। लगातार लगने वाले लॉकडाउन और पाबंदियों के चलते चीन के लोगों के सब्र का बांध टूट रहा है। लोग सड़क पर आकर उग्र विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इस दौरान राष्ट्रपति शी जिनपिंग इस्तीफा दो के नारे भी लगाए जा रहे हैं। 

एक ऐसे ही विरोध प्रदर्शन को कवर करने के दौरान बीबीसी के एक पत्रकार को चीन की पुलिस ने पीटा। हथकड़ी लगाकर उसे थाने लगाया गया और डिटेन कर रखा गया। बीबीसी ने रविवार को दावा किया कि चीन के शंघाई में एक विरोध प्रदर्शन को कवर करने के दौरान उनके पत्रकार पर हमला किया गया। उसे हिरासत में लिया गया। हिरासत में रखने के दौरान पुलिस ने पत्रकार की पिटाई की। विवाद बढ़ने पर चीनी पुलिस ने बीबीसी के कैमरामैन एडवर्ड लॉरेंस को रिहा कर दिया।

Subscribe to get breaking news alerts

विदेश मंत्रालय ने कहा- विदेशी मीडियाकर्मियों को करना चाहिए चीनी कानून का सम्मान
चीनी विदेश मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि सप्ताहांत में शंघाई में विरोध प्रदर्शन में गिरफ्तार बीबीसी के रिपोर्टर ने हिरासत में लिए जाने के दौरान नहीं बताया था कि वह पत्रकार है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने कहा कि एडवर्ड ने हिरासत में लिए जाने के वक्त पुलिस को अपना प्रेस आईकार्ड नहीं दिखाया था। विदेशी मीडिया के लिए काम करने वाले पत्रकारों को चीन में रहने के दौरान चीन के कानूनों का सम्मान करना चाहिए।

यह भी पढ़ें- तीन एस्ट्रोनॉट स्पेस में भेजेगा चीन, चांद पर मानव मिशन भेजने की भी कर रहा तैयारी

हिरासत में पुलिस ने की पिटाई
बीबीसी ने रविवार को दावा किया कि चीन के शंघाई में एक विरोध प्रदर्शन को कवर करने के दौरान उनके पत्रकार के साथ मारपीट की गई। उसे हिरासत में लिया गया। कैमरामैन एडवर्ड लॉरेंस को रिहा किए जाने से पहले कई घंटों तक हथकड़ी लगाकर रखा गया था। चीनी पुलिस ने हिरासत के दौरान उनकी पिटाई की। बीबीसी के एक प्रतिनिधि ने कहा कि बीबीसी अपने पत्रकार ईडी लॉरेंस के इलाज के बारे में बहुत चिंतित है। पुलिस ने उन्हें लात मारी और पीटा।

यह भी पढ़ें- खुद को और खतरनाक बना रहा कोरोना का वायरस, आने वाले दिनों में भयानक रूप लेकर लौट सकती है महामारी