Asianet News Hindi

Howdy Modi: जर्मनी के फ्रेंकफर्ट में पीएम मोदी का टेक्निकल हॉल्ट, दो घंटे रुकने के बाद होंगे यूएस रवाना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक सप्ताह की यात्रा पर अमेरिका के लिए रवाना हो गए। यूएसए की यात्रा के दौरान पीएम मोदी सुबह-सुबह जर्मनी के फ्रेंकफर्ट में दो घंटे का टेक्निकल हॉल्ट के लिए रुके। जहां उन्हें जर्मनी में भारतीय राजदूत मुक्ता तोमर और महावाणिज्य दूत पारकर ने रिसीव किया। 

PM Narendra Modi made a 2 hour technical halt in Frankfurt, Germany, early morning today
Author
Houston, First Published Sep 21, 2019, 11:28 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

ह्यूस्टन. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक सप्ताह की यात्रा पर अमेरिका के लिए रवाना हो गए। यूएसए की यात्रा के दौरान पीएम मोदी सुबह-सुबह जर्मनी के फ्रेंकफर्ट में दो घंटे का टेक्निकल हॉल्ट के लिए रुके। जहां उन्हें जर्मनी में भारतीय राजदूत मुक्ता तोमर और महावाणिज्य दूत पारकर ने रिसीव किया। बता दें कि 22 सितंबर को ह्यूस्टन के टेक्सास में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 'Howdy Modi' कार्यक्रम में 50 हजार से ज्यादा अमेरिकन-भारतीय समुदाय के लोंगों को संबोधित करेंगे।   

3 घंटे चलेगा हाउड़ी 'मोदी' कार्यक्रम
यह पहला मौका है जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अमरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप स्टेज शेयर कर रहें हैं। यह कार्यक्रम 22 सितंबर को भारतीय समय अनुसार रात 8:30 बजे से 11:30 बजे तक चलेगा। 3 घंटे तक चलने वाले इस कार्यक्रम में 50,000 से अधिक लोग उपस्थित रहेंगे। बता दें कि 'हाउडी, मोदी' कार्यक्रम टेक्सास के ह्यूस्टन में NRG स्टेडियम में आयोजित किया जाएगा। स्टेडियम अमेरिका के सबसे बड़े फुटबॉल स्टेडियमों में से एक है। स्टेडियम में सभी अपने स्मार्टफोन के माध्यम से इस कार्यक्रम का अंग्रेजी अनुवाद सुन सकते हैं।

दो सबसे बड़े लोकंतत्रों के नेता एक संयुक्त रैली को करेंगे संबोधित
एनआरजी स्टेडियम में होने वाले कार्यक्रम हाउडी मोदी शेयर्ड ड्रीम्स, ब्राइट फ्यूचर के लिए रिकार्ड संख्या में 50,000 से अधिक लोगों ने पंजीकरण कराया है। हाउडी शब्द का प्रयोग दक्षिण पश्चिम अमेरिका में अभिवादन के लिए किया जाता है जिसका अर्थ होता है आप कैसे हैं? व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव स्टेफनी ग्रिशम ने रविवार को एक बयान में कहा, यह (मोदी-ट्रम्प की साझा रैली होगी) अमेरिका और भारत के लोगों के बीच संबंधों को मजबूत करने, दुनिया के सबसे पुराने एवं सबसे बड़े लोकतंत्रों के बीच रणनीतिक साझेदारी की पुन: पुष्टि करने और उनकी ऊर्जा तथा व्यापारिक संबंधों को गहरा करने के तरीकों पर चर्चा करने का बेहतरीन मौका होगा।

भारत और अमेरिका के रिश्तों में ऐतिहासिक क्षण
यह पहला मौका होगा जब कोई अमेरिकी राष्ट्रपति एक ही स्थान पर इतनी बड़ी संख्या में मौजूद भारतीय-अमेरिकियों को संबोधित करेंगे। अमेरिका में भारत के राजदूत हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा कि ट्रम्प का हाउडी मोदी कार्यक्रम में हिस्सा लेना ऐतिहासिक और अभूतपूर्व है। श्रृंगला ने कहा, यह दोस्ती तथा सहयोग के मजबूत रिश्तों को दर्शाता है, जो भारत और अमेरिका के बीच विकसित हुए हैं। 

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios