Asianet News HindiAsianet News Hindi

ईरान में भारी प्रोटेस्ट से भड़के रूहानी, कहा- ये लोगों का अधिकार, लेकिन दंगों के लिए नहीं है कोई जगह

देश में पेट्रोल के दाम में बढ़ोतरी को प्रदर्शनों का कारण माना जा रहा है, लेकिन रूहानी ने पेट्रोल के दामों में वृद्धि का बचाव किया। सरकार का कहना है कि यह ऐसा कदम है जो आर्थिक सुस्ती के वक्त में समाज कल्याण के कार्यक्रम को वित्तीय सहायता देगा। 

protest in iran over increasing petroleum prices
Author
Tehran, First Published Nov 18, 2019, 12:02 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

तेहरान: ईरान में दो दिन से चल रही व्यापक हिंसा में दो लोगों के मारे जाने के बीच देश के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने रविवार को चेतावनी दी कि दंगा प्रभावित ईरान में ‘असुरक्षा’ के लिए कोई स्थान नहीं है। रूहानी ने कहा,‘‘विरोध प्रदर्शन करना लोगों का अधिकार है,लेकिन प्रदर्शन और दंगों में फर्क है। हम समाज में असुरक्षा नहीं ला सकते।’’

बढ़ती पेट्रोल की दरें बन रही हैं  प्रदर्शन का कारण

देश में पेट्रोल के दाम में बढ़ोतरी को प्रदर्शनों का कारण माना जा रहा है, लेकिन रूहानी ने पेट्रोल के दामों में वृद्धि का बचाव किया। सरकार का कहना है कि यह ऐसा कदम है जो आर्थिक सुस्ती के वक्त में समाज कल्याण के कार्यक्रम को वित्तीय सहायता देगा। गौरतलब है कि ईरान सरकार ने घोषणा की थी कि हर माह शुरुआती 60 लीटर पेट्रोल की खरीद पर कीमत में 50 फीसदी बढ़ोतरी की जाएगी और इस सीमा से अधिक पेट्रोल खरीदने पर कीमत में 300 फीसदी बढ़ोतरी की जाएगी। इस घोषणा के कुछ घंटे बाद ही ईरान में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए थे। ईरान के शीर्ष नेता अयातुल्ला खामेनी ने पेट्रोल के दाम बढ़ाने के सरकार के फैसले का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि जो लोग विरोध प्रदर्शन के दौरान सार्वजनिक संपत्तियों को नुकसान पहुंचा रहे हैं, वे ‘डाकू’ हैं और उन्हें ईरान के दुश्मनों का समर्थन प्राप्त है।

वाशिंगटन ने प्रदर्शनकारियों पर बल प्रयोग की और संचार प्रतिबंध की निंदा की है। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव स्टेफनी ग्रिशम ने एक बयान में कहा,‘‘अमेरिका शासन के खिलाफ ईरानी लोगों के शांतिपूर्ण विरोध का समर्थन करता है।’’  

 

(यह खबर समाचार एजेंसी भाषा की है, एशियानेट हिंदी टीम ने सिर्फ हेडलाइन में बदलाव किया है।)


 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios