Asianet News HindiAsianet News Hindi

कश्मीर को लेकर पाकिस्तान ने सऊदी अरब को दिखाया था आंख, अब जाकर गिड़गिड़ाया तो 3 अरब डॉलर की मदद का किया ऐलान

गलत चाल की वजह से रिश्ते खराब कर चुके पाकिस्तान की हालत इन दिनों बेहद खराब हो चुकी है। वह आतंकवाद और दूसरे देशों को भड़काने के साथ साथ भ्रष्टाचार के आकंठ में डूब चुका है। दिवालिया होने की कगार पर पहुंचे  इस मुल्क को अब विदेशी मदद के अलावा कोई चारा नहीं है।

Saudi Arabia will give financial assistance of 3 million dollars to Pakistan
Author
Riyadh Saudi Arabia, First Published Oct 27, 2021, 4:13 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

रियाद। मुल्क की आर्थिक स्थिति बदहाल होते ही चेतावनी देने वाला पाकिस्तान (Pakistan), अब उसी सउदी अरब (Saudi Arabia)के सामने गिड़गिड़ाया तो उसकी मदद को वहां के क्राउन प्रिंस (crown prince) तैयार हुए। पाकिस्तान की मदद के लिए सउदी अरब ने मदद का ऐलान किया है। सऊदी फंड फॉर डेवलपमेंट (Saudi Fund for development) ने पाकिस्तान के सेंट्रल बैंक में तीन अरब यूएस डॉलर जमा करने का निर्णय लिया है। सऊदी अरब डेफर्ड पेमेंट के साथ ही 1.2 अरब डॉलर की तेल सप्लाई भी देगा। 

क्यों बिगड़ गए थे पाकिस्तान से सऊदी अरब के रिश्ते?

दरअसल, पाकिस्तान विश्व समुदाय में कश्मीर का मुद्दा हरदम उठाता रहता है। जब भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर से 370 हटाने और केंद्र शासित राज्य में तब्दील करने का ऐलान किया तो पाकिस्तान ने इसे मुद्दा बनाना चाहा। वह मुस्लिम देशों को इसका विरोध करने के लिए उकसाने लगा। उसने सऊदी अरब को भी विरोध करने को कहा, लेकिन जब सऊदी अरब ने कुछ नहीं कहा तो उसने चेतावनी दे डाली। चेतावनी देने के बाद खफा सऊदी अरब ने पाकिस्तान से अपना आर्थिक लेन-देन समाप्त करते हुए कुछ रकम वापस मांग ली। द्विपक्षीय संबंध बिगड़ने के कारण पाकिस्तान को 3 अरब डॉलर के डिपॉजिट में से 2 अरब डॉलर वापस करना पड़ा था। 

आर्थिक रूप से बदहाल पाकिस्तान अब मांग रहा मदद

गलत चाल की वजह से रिश्ते खराब कर चुके पाकिस्तान की हालत इन दिनों बेहद खराब हो चुकी है। वह आतंकवाद और दूसरे देशों को भड़काने के साथ साथ भ्रष्टाचार के आकंठ में डूब चुका है। दिवालिया होने की कगार पर पहुंचे  इस मुल्क को अब विदेशी मदद के अलावा कोई चारा नहीं है। सबसे अहम यह कि चीन जिसे पाकिस्तान अपना सबसे अच्छा दोस्त कहता है, उसने भी और कर्ज देने से इनकार कर दिया है। साथ ही दी हुई रकम को वापस करने का दबाव भी बनाना शुरू कर दिया है। ऐसे में पाकिस्तान के पास अरब देशों से रिश्ते सुधारने और उनके सामने हाथ फैलाने के अलावा कोई चारा नहीं बचा हुआ है। 

बीते दिनों पाकिस्तान पीएम थे अरब देशों के दौरे पर

पाकिस्तान पीएम इमरान खान बीते दिनों सऊदी अरब के दौरे पर थे। 23 से 25 अक्टूबर तक दौरे पर रहे पीएम इमरान मिडल ईस्ट ग्रीन इनिशिएटिव (MGI) सम्मेलन के उद्घाटन समारोह में शामिल हुए। इमरान ने सोमवार को रियाद में मिडिल ईस्ट ग्रीन इनिशिएटिव समिट से अलग सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान बिन अब्दुलाजीज अल सौद (Mohammad Bin Salman Bin Abdullaziz Al Saud) से मुलाकात भी की थी। आर्थिक सहायता मांगी। पाकिस्तान के मदद मांगे जाने के बाद सऊदी अरब ने मदद का ऐलान किया है। 

दूसरी बार सऊदी अरब कर रहा है पाकिस्तान की मदद

सऊदी अरब ने पाकिस्तान को यह दूसरी बार मदद की है। इसके पहले 2018 में सऊदी अरब ने छह अरब अमेरिकी डॉलर की मदद की थी। सऊदी ने स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान में 3 अरब डॉलर डिपॉजिट और 3 अरब डॉलर वार्षिक आधार पर डेफर्ड पेमेंट पर तेल सप्लाई की थी।

यह भी पढ़ें:

Covaxin को फिर नहीं मिला WHO से अप्रूवल, 3 नवम्बर को अब होगा निर्णय

टी-20 विश्व कप में पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाने पर जम्मू-कश्मीर के दो मेडिकल स्टूडेंट्स पर यूएपीए केस

सूडान में सेना के तख्ता पलट के बाद जनता सड़कों पर, नागरिक और सेना संघर्ष में कम से कम दस लोग मारे गए, 150 से अधिक घायल

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios