Train Accident: स्टेशन पर खड़ी ट्रेन को पीछे से दूसरी ट्रेन ने मारी टक्कर, कम से कम 150 लोग घायल

| Dec 07 2022, 07:47 PM IST

Train Accident: स्टेशन पर खड़ी ट्रेन को पीछे से दूसरी ट्रेन ने मारी टक्कर, कम से कम 150 लोग घायल

सार

परिवहन मंत्री ने कहा कि दुर्घटना के कारणों की जांच शुरू कर दी गई है। लाइन के साथ रेल यातायात को दोनों दिशाओं में कुछ समय के लिए निलंबित कर दिया गया है। जांच के बाद ही आगे ट्रेनों का इस रूट पर संचालन होगा।

Train Accident: स्पेन में दो ट्रेन के टकरा जाने से कम से कम 150 लोग घायल हो गए हैं। यह एक्सीडेंट बार्सिलोना के पास एक स्टेशन पर हुआ। स्पेन के रेनफे रेल ऑपरेटर ने बताया कि धीमी गति से आ रही एक ट्रेन स्टेशन पर खड़ी ट्रेन से पीछे से टकरा गई। इस एक्सीडेंट में कम से कम 150 लोग घायल हो गए। एसईएम क्षेत्रीय इमरजेंसी सर्विसेस ने कहा कि ट्रेन बहुत धीमी गति से चल रही थी। यह टक्कर बुधवार की सुबह 8:00 बजे के पहले हुई। इस दुर्घटना के दौरान ट्रेन में सवार अधिकांश लोगों को चोटें आई हैं।

39 लोगों को अस्पताल पहुंचाया गया

Subscribe to get breaking news alerts

एसईएम ने ट्विटर हैंडल के माध्यम से बताया कि ट्रेन एक्सीडेंट में 155 लोगों को मामूली चोटें आईं। इनमें से 39 को लोकल अस्पताल में चेकअप और प्राथमिक उपचार के लिए पहुंचाया गया। इमरजेंसी सर्विस अधिकारी जोआन कार्ल्स गोमेज़ ने बताया कि टक्कर के समय ट्रेन बहुत धीमी गति से चल रही थी। जो लोग खड़े थे वे गिर गए और चोटिल हो गए। उन्होंने कहा कि हमने प्रभावित हुए 155 लोगों की जांच की है, कोई भी गंभीर रूप से घायल नहीं हुआ है। कुछ लोगों के सिर पर चोटें आई है। गोमेज़ ने कहा कि 14 लोगों फ्रैक्चर हुआ है। जबकि 39 को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

स्पीड कम होने से गंभीर चोटें नहीं

एक क्षेत्रीय अग्निशमन सेवा के प्रवक्ता ने बताया कि चलती ट्रेन ने मोंटकाडा स्टेशन पर एक खड़ी ट्रेन को टक्कर मार दी। घटनास्थल बार्सिलोना के उत्तर में लगभग 10 किलोमीटर (छह मील) की दूरी पर स्थित है। परिवहन मंत्री रकील सांचेज ने कहा कि दुर्घटना के कारणों की जांच शुरू कर दी गई है। चूंकि, स्पीड कम थी और ट्रेन में पहले ही ब्रेक लगा दिया गया था इसलिए कोई गंभीर रूप से घायल नहीं हुआ। कम स्पीड की वजह से बड़ी दुर्घटना से बचा जा सका। लाइन के साथ रेल यातायात को दोनों दिशाओं में कुछ समय के लिए निलंबित कर दिया गया है। जांच के बाद ही आगे ट्रेनों का इस रूट पर संचालन होगा।

यह भी पढ़ें:

महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमा विवाद: बेलगावी में प्रदर्शनकारियों ने महाराष्ट्र के नंबर वाले ट्रकों में की तोड़फोड़

महिलाओं के कपड़ों पर निगाह रखती थी ईरान की मॉरल पुलिस, टाइट या छोटे कपड़े पहनने, सिर न ढकने पर ढाती थी जुल्म