Asianet News HindiAsianet News Hindi

वैज्ञानिकों ने कहा, सूर्य की रोशनी में 2 मिनट में मर जाता है कोरोना, ट्रम्प बोले- इसे शरीर में भेजो

अमेरिका में कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब तक करीब 50 हजार लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अभी भी कोरोना से निपटने के लिए लोगों को अजीब सलाह देने में जुटे हैं। गुरुवार को कोरोना वायरस को लेकर हुए प्रेजेंटेशन में वैज्ञानिकों ने कहा, सूर्य की रोशनी से कोरोना वायरस दो मिनट में मर जाता है। 

Trump Idea On Cure of COVID-19, Like Injecting Disinfectant KPP
Author
Washington D.C., First Published Apr 24, 2020, 5:29 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

वॉशिंगटन. अमेरिका में कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब तक करीब 50 हजार लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अभी भी कोरोना से निपटने के लिए लोगों को अजीब सलाह देने में जुटे हैं। गुरुवार को कोरोना वायरस को लेकर हुए प्रेजेंटेशन में वैज्ञानिकों ने कहा, सूर्य की रोशनी से कोरोना वायरस दो मिनट में मर जाता है। इस पर ट्रम्प ने कहा, इस तरह की पावरफुल लाइट को मरीजों के शरीर के अंदर पहुंचाया जाए। राष्ट्रपति की यह सलाह सुनकर वैज्ञानिक भी सकते में आ गए। 

दरअसल, अमेरिका में कोरोना से निपटने के लिए बनाए गए टास्क फोर्स के वैज्ञानिक बिल ब्रायन ने सूर्य के प्रकाश से कोरोना वायरस के मरने की जानकारी दी। इसपर ट्रम्प ने कहा, तुम इस रोशनी को त्वचा और शरीर के अंदर ले जाओगे, मुझे विश्वास है कि तुम यह टेस्ट जरूर करोगे। इस पर ब्रायन ने कोई जवाब नहीं दिया। इसके बाद ट्रम्प ने कहा, मैंने पहले भी सूर्य की तेज रोशनी और गर्मी में कोरोनावायरस के खत्म होने की बात कही थी, लेकिन तब लोगों ने यह नहीं माना। लेकिन अब यह सिद्ध हो गया।

ट्रम्प ने दी दूसरी सलाह
ट्रम्प यहीं नहीं रुके, उन्होंने इसके आगे भी अपनी सलाह दी। उन्होंने सुझाव दिया कि कोरोना के मरीजों को ब्लीच और आइसोप्रोपिल एल्कोहल जैसे क्लीन्जर का इंजेक्शन लगाना चाहिए। दरअसल, बिल ब्रायन ने बताया था कि ब्लीच और आइसोप्रोपिल एल्कोहल वायरस को 5 मिनट में और एल्कोहल 30 सेकंड में मार देता है। आइसोप्रोपिल एल्कोहल डिटर्जेंट बनाने में इस्तेमाल किया जाता है। 

अमेरिका में करीब 50 हजार लोगों की मौत 
कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब तक दुनिया में इस महामारी से 1.90 लाख लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, 27 लाख लोग संक्रमित हैं। हालांकि, अब तक 7.4 लाख लोग ठीक भी हो चुके हैं। अमेरिका में अभी भी स्थिति काबू में होती नजर नहीं आ रही है। यहा संक्रमित केसों की संख्या और मौत का आंकड़ा दोनों लगातार बढ़ रहे हैं। अमेरिका में करीब 50 हजार लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिका में अब तक 8.8 लाख लोग संक्रमित पाए गए हैं। वहीं, 49 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। अकेले न्यूयॉर्क में मौत का आंकड़ा 20 हजार के ऊपर पहुंच चुका है। अमेरिका में पिछले 24 घंटे में 3176 लोगों की मौत हुई है। वहीं, 31 हजार से ज्यादा संक्रमण के केस सामने आए हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios