Asianet News HindiAsianet News Hindi

खास मित्र को भी अपनी गुप्त बातें नहीं बताना चाहिए, वजह जान आप भी चौंक जाएंगे

Chanakya Niti: हमारे धर्म ग्रंथों में लाइफ मैनेजमेंट से जुड़ी कई बातें बताई गई हैं। ये बातें आज के समय में भी प्रासंगिक हैं। इन बातों का ध्यान रखा जाए तो कई परेशानियों से बचा जा सकता है। ऐसे ही कुछ लाइफ मैनेजमेंट टिप्स आचार्य चाणक्य ने भी बताए हैं।
 

Chanakya Niti Life Management To whom do not tell your secrets Who was Acharya Chanakya MMA
Author
First Published Aug 25, 2022, 6:42 PM IST

उज्जैन. आचार्य चाणक्य भारत के महान विद्ववानों में से एक थे। उन्होंने ही खंड-खंड में बटे भारत वर्ष को एक सूत्र में पिरोया और चंद्रगुप्त मौर्य को इस देश का सम्राट बनाया। आचार्य चाणक्य ने अपने जीवन काल में कई महान कार्य किए साथ ही कई पुस्तकों की रचना भी की। उनकी पुस्तक चाणक्य नीति (Chanakya Niti) में कई ऐसी बातें बताई गई हैं, जो सभी लोगों को ध्यान में रखनी चाहिए। आचार्य चाणक्य के अनुसार, बुरे मित्रों से दूर रहना चाहिए, लेकिन अपने खास मित्रों को भी भूलकर अपनी गुप्त बातें नहीं बतानी चाहिए। ऐसा करना नुकसानदायक हो सकता है। चाणक्य नीति में दूसरे अध्याय के पांचवें श्लोक में लिखा है कि-

परोक्षे कार्यहन्तारं प्रत्यक्ष प्रियवादिनम्।
वर्जयेत्तादृशं मित्रं विषकुंभम् पयोमुखम्।।

अर्थ- इस नीति में आचार्य ने बताया है कि जो मित्र हमारे सामने मीठी बातें करते हैं, हमारी तारीफ करते हैं और पीठ पीछे बुराई करते हैं, काम बिगाड़ने की कोशिश करते हैं, उससे मित्रता नहीं रखनी चाहिए। ऐसे लोगों का साथ जितनी जल्दी हो सके छोड़ देना चाहिए। ऐसे मित्र उस घड़े की तरह होते हैं जिसके ऊपर तो दूध दिखाई देता है, लेकिन अंदर विष भरा होता है। ये हमें नुकसान के अलावा और कुछ नहीं देते। इसीलिए ऐसे मित्रों से बचना चाहिए।

Chanakya Niti Life Management To whom do not tell your secrets Who was Acharya Chanakya MMA

चाणक्य नीति में दूसरे अध्याय के छठे श्लोक के अनुसार-
न विश्वसेत् कुमित्रे च मित्रे चाऽपि न विश्वसेत्।
कदाचित् कुपितं मित्रं सर्वं गुह्यं प्रकाशयेत्।।


अर्थ- आाचार्य चाणक्य के अनुसार, बुरे लोगों पर तो बिल्कुल भी भरोसा नहीं करना चाहिए। लेकिन इस बात का भी विशेष ध्यान रखएं कि जो हमारे परम मित्र हैं उन पर भी हद से ज्यादा भरोसा न करें और उन्हें अपनी गुप्त बातें न बताएं। इसके पीछे का कारण है कि यदि भविष्य में उनसे हमारा कोई विवाद हो जाए तो वे हमारी गुप्त बातें लोगों को बताकर परेशानियां बढ़ा सकते हैं और इससे हमारे मान-सम्मान को भी ठेस पहुंच सकती है।


ये भी पढ़ें-

Shukra Gochar 2022: 31 अगस्त को शुक्र बदलेगा राशि, इन 5 राशि वालों की लगेगी लॉटरी


Kushgrahani Amavasya 2022: भाद्रपद अमावस्या पर तोड़ी जाती है ये पवित्र घास, शुभ कामों में होता है इसका उपयोग

Shani Amavasya 2022: अचूक हैं ये 8 उपाय, 27 अगस्त को शनिश्चरी अमावस्या पर कोई भी 1 करें
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios