उज्जैन. आचार्य चाणक्य ने अपनी एक नीति में बताया है कि सुंदरता, ज्ञान और धन किन परिस्थितियों में व्यर्थ हैं। आगे जानिए इस नीति से जुड़ा लाइफ मैनेजमेंट…

1. गुणहीन व्यक्ति की सुंदरता व्यर्थ है
आचार्य चाणक्य के अनुसार शरीर की सुंदरता बाहरी होती है, उसका गुणों से कोई लेना-देना नहीं होता। अगर कोई व्यक्ति सुंदर है, लेकिन उसमें सदगुण नहीं है तो उसकी सुंदरता को व्यर्थ ही समझना चाहिए। बिना गुण के सुंदरता किसी काम की नहीं, वह तो सिर्फ छलावा मात्र है।

2. दुष्ट स्वभाव वाले व्यक्ति का कुल नष्ट होने योग्य है
आचार्य चाणक्य के अनुसार, दुष्ट स्वभाव वाला व्यक्ति भले ही कितने भी उच्च कुल का हो, उसका कुल नष्ट होने योग्य होता है क्योंकि कुल के संस्कार के अनुसार ही व्यक्ति का आचरण होता है।

3. लक्ष्य की सिद्धि न हो तो विद्या व्यर्थ है
जीवन में सभी लोगों का कोई-न-कोई लक्ष्य होता है, इसके लिए ही वह व्यक्ति विद्या प्राप्त करता है। लेकिन ऐसी शिक्षा जिससे कि लक्ष्य प्राप्त न हो, उसे व्यर्थ ही समझना चाहिए। शिक्षा ही जीवन को सही दिशा दिखाती है और जो ज्ञान मार्ग प्रशस्त न करे, वह किसी काम का नहीं।

4. जिस धन का सदुपयोग न हो, वह धन व्यर्थ है
धर्म ग्रंथों में धन की तीन गति बताई गई है। पहली भोग, दूसरी दान और तीसरी नाश। यानी सबसे पहले धन का भोग करना चाहिए, इसके बाद उसे दान करना चाहिए। अगर इन दोनों कामों में धन नहीं लगाया तो उसका नाश होना निश्चित है यानी ऐसा धन व्यर्थ है।

चाणक्य नीति के बारे में ये भी पढ़ें

चाणक्य नीति: पिता के अलावा इन 4 को भी उन्हीं के समान ही आदर और सम्मान देना चाहिए

चाणक्य नीति: जानिए हमें, शेर, बगुले, गधे, मुर्गे, कौए और कुत्ते से क्या सीखना चाहिए?

चाणक्य नीति: कैसे लोग हमेशा गरीब नहीं रहते और किन लोगों का कभी विवाद नहीं होता?

चाणक्य नीति: झगड़ालू पत्नी, मूर्ख पुत्र और विधवा पुत्री सहित ये 6 दुख अग्नि के समान जलाते हैं

चाणक्य नीति: जानिए सबसे बड़ा तप, सुख, रोग और धर्म कौन-सा है?

कैसे वृक्ष, स्त्री और राजा जल्दी ही नष्ट हो जाते हैं? जानिए इस चाणक्य नीति से

चाणक्य नीति: झूठ और लालच के अलावा ये 3 अवगुण महिलाओं के स्वभाव में होते हैं

चाणक्य नीति: महिला अगर कोई गलती करें तो उसका परिणाम किसे भुगतना पड़ता है?

चाणक्य नीति: ये 3 कामों में कभी शर्म नहीं करनी चाहिए नहीं तो भविष्य में परेशान होना पड़ सकता है

चाणक्य नीति: इन 4 चीजों से सिर्फ पल भर का ही आनंद मिल पाता है

चाणक्य नीति: विद्यार्थी और नौकर सहित ये 6 लोग अगर सो रहे हो तो तुरंत उठा देना चाहिए

चाणक्य नीति: जिस व्यक्ति में होते हैं ये 5 गुण, वह विपरीत समय में भी कभी दुखी नहीं होता

चाणक्य नीति: कौन होता है भ्रष्ट स्त्री, लालची व्यक्ति, मूर्ख और चोर का सबसे बड़ा शत्रु?