Asianet News Hindi

20 जुलाई से 15 नवंबर तक रहेगा चातुर्मास, इस दौरान भगवान विष्णु करेंगे आराम, नहीं होंगे मांगलिक कार्य

20 जुलाई, मंगलवार को देवशयनी एकादशी से ही चातुर्मास शुरू हो जाएंगे। इसके साथ ही चार महीने तक शादी, गृह प्रवेश और अन्य मांगलिक कार्यों पर रोक लग जाएगी।

Chaturmas from 20 July to 15 November, know about this month KPI
Author
Ujjain, First Published Jul 15, 2021, 9:28 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. चातुर्मास में खरीदारी, लेन-देन, निवेश, नौकरी और बिजनेस जैसे कामों की शुरुआत के लिए शुभ मुहूर्त रहेंगे। पंचांगों के अनुसार इस साल भगवान विष्णु 118 दिन योग निद्रा में रहेंगे।

पिछले साल 148 दिन सोए थे भगवान विष्णु
साल 2021 में अधिकमास होने से भगवान विष्णु ने 148 दिन क्षीरसागर में आराम किया था। इस बार वे 20 जुलाई से 14 नवंबर तक योगनिद्रा की अवस्था में रहेंगे। पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक इस अवधि में सृष्टि को संभालने और कामकाज संचालन का जिम्मा भगवान शिव के पास रहेगा।

खास होता है आषाढ़ महीना
हिंदू कैलेंडर में आषाढ़ साल का चौथा माह है। आषाढ़ सनातन धर्म में धार्मिक माह भी माना गया है। इस माह में भगवान विष्णु, भगवान शिव व मां दुर्गा की गुप्त नवरात्र के दौरान पूजा की जाती है। माना जाता है कि इसी महीने में सभी देवी देवता विश्राम के लिए जाते हैं। वहीं भारत में इस समय काफी बारिश होने के कारण इस माह को वर्षा ऋतु का महीना भी कहा जाता है।

चातुर्मास में कौन-कौन से महीने
पुरी के ज्योतिषाचार्य डॉ. गणेश मिश्र के अनुसार चतुर्मास की शुरुआत हिंदू कैलेंडर के आषाढ़ माह से होती है। चातुर्मास आषाढ़ महीने के शुक्लपक्ष की एकादशी यानि इस बार मंगलवार, 20 जुलाई 2021 से शुरू होकर कार्तिक शुक्ल एकादशी तक चलेगा। जो कि 15 नवंबर को है। यानि इसकी अवधि 4 महीने की होगी।

चातुर्मास के चार महीने -
1.
आषाढ़ महीने के शुक्लपक्ष की एकादशी से श्रावण शुक्ल एकादशी तक (20 जुलाई से 18 अगस्त)
2. श्रावण शुक्लपक्ष की एकादशी से भाद्रपद शुक्लपक्ष की एकादशी तक (18 अगस्त से 17 सितंबर)
3. भाद्रपद शुक्लपक्ष की एकादशी से आश्विन शुक्लपक्ष की एकादशी तक (17 सितंबर से 16 अक्टूबर)
4. आश्विन शुक्लपक्ष की एकादशी से कार्तिक शुक्लपक्ष की एकादशी तक (16 अक्टूबर से 15 नवंबर)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios