Asianet News Hindi

छठ व्रत से सभी को सीखने चाहिए लाइफ मैनेजमेंट के ये 7 अहम सूत्र

छठ व्रत में लगातार 36 घंटे तक निर्जला व्रत रखना पड़ता है। छठ पर्व (20 नवंबर, शुक्रवार) में चार दिनों का व्रत मागधी संस्कृति की अनूठी मिसाल है। छठ व्रत मुख्य रूप से सूर्यदेव की पूजा की जाती है। सूर्यदेव 7 घोड़ों के रथ पर सवार होकर चलते हैं। इसलिए इस व्रत से हमें भी लाइफ मैनेजमेंट के 7 सूत्र जरूर सिखना चाहिए।

Everyone should learn these 7 important formulas of life management from Chhath Vrat KPI
Author
Ujjain, First Published Nov 18, 2020, 10:07 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. छठ व्रत में लगातार 36 घंटे तक निर्जला व्रत रखना पड़ता है। छठ पर्व (20 नवंबर, शुक्रवार) में चार दिनों का व्रत मागधी संस्कृति की अनूठी मिसाल है। छठ व्रत मुख्य रूप से सूर्यदेव की पूजा की जाती है। सूर्यदेव 7 घोड़ों के रथ पर सवार होकर चलते हैं। इसलिए इस व्रत से हमें भी लाइफ मैनेजमेंट के 7 सूत्र जरूर सिखना चाहिए। ये हैं लाइफ मैनेजमेंट के वो 7 सूत्र...

1. सात्विक
कार्तिक मास शुरू होते ही खाने-पीने से लेकर पहनने और सोने तक में सात्विकता रहती है। व्रत के चार दिन पहले से इसमें खास सतर्कता बरती जाती है।

2. सहृदयता
छठ में प्रयोग होने वाली किसी चीज के लिए किसी में नकार भाव बिल्कुल ही नहीं है। दूध, नारियल, सूप, गन्ना, लकड़ी आदि लोग खुले हाथ बांटते हैं ।

3. संयम
व्रत में संयम का बड़ा महत्व है। इंद्रियों को संयमित करने की प्रक्रिया तो व्रती पहले से शुरू कर देते हैं। व्रत के चार दिन तो संयमित जीवन का ही संदेश है।

4. स्वच्छता
छठ में स्वच्छता का महत्व आस्था जितना ही है। घर-बाहर ही नहीं, साफ-सफाई और व्रत का माहौल भी हमारे जीवन को एक नया आयाम देता है।

5. समर्पण
बिना संपूर्ण समर्पण के लक्ष्य हासिल करने में मुश्किलें आती है। छठ व्रत सूर्य के प्रति आस्था, सृष्टि और स्रष्टा के समक्ष कर्ता का समर्पण ही है।

6. सादगी
दिखावा से हर तरह का परहेज रहता है। ऐसा पर्व जिसमें व्रती महिलाएं शृंगार से भी परहेज करती हैं। नंगे पैर ही घाट जाने का प्रावधान है।

7. समरसता
व्रत, दिखावे के तमाम पचड़ों से बाहर है। सूप दउरा डोम के यहां से आता है, फूल माली के यहां से, चूल्हा से लेकर अन्य सामग्रियों को जुटाने का विधान है।

छठ के बारे में ये भी पढ़ें

20 नवंबर को मनाया जाएगा बिहार और उत्तर प्रदेश का मुख्य पर्व छठ, जानें इस व्रत की मान्यताएं और कथाएं

छठ व्रत में करते हैं सूर्यदेव की पूजा, क्या आप जानते हैं कैसा है सूर्यदेव का परिवार?.

बच्चों की लंबी उम्र और बेहतर स्वास्थ्य के लिए करें षष्ठी देवी की पूजा

छठ व्रत में सूर्यदेव को चढ़ाई जाती हैं अनेक चीजें, इन चीजों का धार्मिक ही नहीं औषधीय महत्व भी है

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios