Asianet News HindiAsianet News Hindi

Ganesh Chaturthi 2022: घर में स्थापित करें गणेश प्रतिमा तो ध्यान रखें ये 5 बातें, मिलेंगे शुभ फल

Ganesh Chaturthi 2022: हर साल भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को गणेश चतुर्थी का पर्व मनाया जाता है। इस दिन घर-घर में भगवान श्रीगणेश की प्रतिमाएं स्थापित की जाती है। साथ ही 10 दिवसीय सामूहिक गणेश उत्सव का आरंभ भी होता है।
 

ganesh chaturthi 2022 ganesh chaturthi date when is ganesh chaturthi Why celebrate Ganesh Chaturthi MMA
Author
First Published Aug 28, 2022, 11:28 AM IST

उज्जैन. इस बार गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi 2022) का पर्व 31 अगस्त, बुधवार को मनाया जाएगा। इस बार ये पर्व इसलिए खास है क्योंकि बुधवार श्रीगणेश का दिन है और चतुर्थी तिथि के स्वामी भी वही हैं। इस दिन घर-घर में भगवान गणपति की स्थापना की जाती है और 10 दिनों तक रोज उनकी पूजा-आराधना की जाती है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. प्रवीण द्विवेदी के अनुसार, भगवान श्रीगणेश की स्थापना करते समय व जिस स्थान पर स्थापना की जाए वहां कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। इन बातों का ध्यान रखने पर भगवान श्रीगणेश की कृपा भक्तों पर बनी रहती है। आगे जानिए इन बातों का बारे में…


इस दिशा में करें गणेश प्रतिमा की स्थापना
गणेश प्रतिमा की स्थापना ईशान कोण में करना शुभ माना जाता है। स्थापना इस प्रकार करें कि मूर्ति का मुख पश्चिम की ओर रहे। जहां पर भगवान श्रीगणेश की प्रतिमा स्थापित करें, उस जगह को रोज साफ करें। ध्यान रखें कि उस स्थान पर कचरा आदि इकट्ठा न होने पाए। 

 

रोज करें पूजा और आरती
स्थापना के बाद श्रीगणेश की प्रतिमा को इधर-उधर न रखें यानी हिलाएं नहीं। ऐसा करना ठीक नहीं माना जाता। भगवान श्रीगणेश को सुबह-शाम दीपक व भोग लगाएं तथा आरती करें। ये सभी काम करते समय मन को शुद्ध रखें यानी किसी तरह की बुरा भाव मन में नहीं होना चाहिए।


तुलसी भूलकर भी न चढ़ाएं
धर्म ग्रंथों के अनुसार भगवान श्रीगणेश को तुलसी नहीं चढ़ानी चाहिए इस बात का विशेष रूप से ध्यान रखें। श्रीगणेश की पूजा में हमेशा दूर्वा व ताजे फूल चढ़ाएं तो बेहतर रहेगा। इस तरह रोज श्रीगणेश की पूजा करने से आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी हो सकती हैं।


पवित्रता का रखें ध्यान
स्थापना स्थल पर पवित्रता का खास ध्यान रखें जैसे- चप्पल पहनकर कोई स्थापना स्थल तक न जाए। किसी भी प्रकार का नशा करके स्थापना स्थल पर न जाएं, इससे उस स्थान की पवित्रता भंग होती है। चमड़े का बेल्ट या पर्स भी स्थापना स्थल के पास नहीं ले जाना चाहिए। इन बातों का विशेष ध्यान रखें।


ये भी पढ़ें-

Hartalika Teej Vrat 2022: चाहती हैं हैंडसम और केयरिंग हसबैंड तो 30 अगस्त को करें ये 4 उपाय


Hartalika Teej 2022: 1 नहीं 3 शुभ योगों में किया जाएगा हरतालिका तीज व्रत, महिलाएं ध्यान रखें ये 5 बातें

Hartalika Teej 2022 Date: कब किया जाएगा हरतालिका तीज व्रत? नोट करें तारीख, पूजा विधि और शुभ मुहूर्त
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios