Asianet News HindiAsianet News Hindi

30 दिनों का रहेगा कार्तिक मास, 5 गुरुवार होना शुभ, इस महीने 12 दिन रहेंगे महिलाओं के व्रत-उपवास

व्रत-उत्सवों का महीना कार्तिक (Kartik month 2021) 21 अक्टूबर, गुरुवार से शुरू हो चुका है। ये महीना 19 नवंबर को कार्तिक पूर्णिमा के साथ खत्म होगा। तिथियों को लेकर पंचांग भेद होने के बावजूद ये महीना 30 दिनों का रहेगा।

Kartik Maas 2021, know the fasts to be observed in this month
Author
Ujjain, First Published Oct 23, 2021, 5:00 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन.  कार्तिक महीने में महिलाओं से संबंधित कई विशेष व्रत और पर्व मनाए जाते हैं। हिंदुओं का सबसे बड़ा त्योहार दीपावली भी इसी महीने में मनाया जाएगा। और भी कई धार्मिक कारणों से ये महीना बहुत ही खास है। श्रीकृष्ण ने भी कहा है कि ये महीना मुझे बहुत प्रिय है। 

तिथियों की घट-बढ़ फिर भी शुभ
कार्तिक (Kartik month 2021) महीना 21 अक्टूबर से 19 नवंबर तक रहेगा। इस महीने कृष्णपक्ष की तेरहवीं और चौदहवीं तिथि को लेकर पंचांग भेद है। लेकिन, किसी तिथि का क्षय नहीं होने के कारण ये महीना 30 दिनों का रहेगा। ज्योतिषीयों का मानना है कि पूरे 30 दिन का महीना देश के लिए शुभ होता है। इस महीने पर्वों की तिथियों में भेद नहीं होने से ये महीना शुभ रहेगा। कार्तिक महीने में 5 गुरुवार होना और ग्रहों की शुभ स्थिति देश के आंतरिक रूप से मजबूत होने का संकेत दे रही है।

महिलाओं के लिए खास 12 दिन
24 अक्टूबर, रविवार को करवा चौथ के साथ खास तीज-त्योहारों की शुरुआत होगी। इनमें स्कंद षष्ठी, अहोई अष्टमी, रमा एकादशी, गोवत्स द्वादशी, भौम प्रदोष, रूप चतुर्दशी, सुहाग पड़वा, भाई दूज, छठ पूजा के तीन दिन और आंवला नवमी जैसे पर्वों पर महिलाएं पति की लंबी उम्र, संतान की सेहत और परिवार की समृद्धि की कामना से व्रत-उपवास करती हैं।

निरोगी बनाता है कार्तिक मास (Kartik month 2021)
धर्म शास्त्रों में प्रत्येक ऋतु व मास का अपना विशेष महत्व बताया गया है। धर्म ग्रंथों में कार्तिक मास के बारे में लिखा है कि यह महीना स्नान, तप व व्रत के लिए सर्वोत्तम है। यह मास सिर्फ धार्मिक कार्यों के लिए ही नहीं बल्कि स्वास्थ्य की दृष्टि से भी काफी लाभदायक है। स्कंदपुराण के वैष्णव खंड में कार्तिक मास के महत्व के विषय में कहा गया है-

रोगापहं पातकनाशकृत्परं सद्बुद्धिदं पुत्रधनादिसाधकम्।
मुक्तेर्निदांन नहि कार्तिकव्रताद् विष्णुप्रियादन्यदिहास्ति भूतले।।
(स्कंदपुराण. वै. का. मा. 5/34)

अर्थात- कार्तिक मास आरोग्य प्रदान करने वाला, रोगविनाशक, सद्बुद्धि प्रदान करने वाला तथा मां लक्ष्मी की साधना के लिए सर्वोत्तम है।

कार्तिक मास के बारे में ये भी पढ़ें

शुरू हो चुका है कार्तिक मास, शुभ फल पाने के लिए इस महीने में क्या करें और क्या करने से बचें

कार्तिक मास में किया जाता है तारा स्नान और तारा भोजन, जानिए क्या है ये परंपरा?

कार्तिक मास 21 अक्टूबर से 19 नवंबर तक, इस महीने में मनाए जाएंगे करवा चौथ और दीपावली जैसे बड़े त्योहार

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios