Asianet News Hindi

भगवान श्रीकृष्ण को प्रिय है वैजयंती माला, इनकी पूजा करते समय ध्यान रखें ये बातें

घर के मंदिर में बाल गोपाल की मूर्ति के साथ ही श्रीकृष्ण की प्रिय चीजें भी रखनी चाहिए। बाल गोपाल के साथ छोटी सी गाय की मूर्ति, बांसुरी, मोर पंख और वैजयंती माला जरूर रखें।

Vaijayanti Mala is dear to Lord Krishna, know the rules to worship him KPI
Author
Ujjain, First Published Apr 16, 2020, 3:38 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
उज्जैन. घर के मंदिर में बाल गोपाल की मूर्ति के साथ ही श्रीकृष्ण की प्रिय चीजें भी रखनी चाहिए। बाल गोपाल के साथ छोटी सी गाय की मूर्ति, बांसुरी, मोर पंख और वैजयंती माला जरूर रखें। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. प्रवीण द्विवेदी के अनुसार, श्रीकृष्ण को गाय, बांसुरी, मोर पंख, वैजयंती माला के साथ ही माखन-मिश्री विशेष प्रिय हैं। जानिए वैजयंती माला से जुड़ी खास बातें...

वैजयंती है एक पौधे का नाम
वैजयंती एक पौधे का नाम है। इसके पत्ते थोड़े लंबे होते हैं, चौड़ाई कम होती है। इसमें टहनियां नहीं होती हैं। वैजयंती में लगने वाले फूल लाल या पीले रंग के होते हैं। ये फूल गुच्छों में लगते हैं। फूलों के साथ ही छोटे-छोटे गोल दाने भी होते हैं, जो कि थोड़े कठोर होते हैं। इन कठोर दानों में छेद करके माला बनाई जाती है। ये माला किसी भी पूजन-सामग्री की दुकान पर आसानी से मिल सकती है।

रोज करें कृं कृष्णाय नम: मंत्र का जाप
बाल गोपाल के साथ ही ये चीजें रखें और रोज पूजा करें। पूजा में माखन-मिश्री का भोग लगाएं और कृं कृष्णाय नम: मंत्र का जाप कम से कम 108 बार करें।

हम भी पहन सकते हैं ये माला
मान्यता है कि जो व्यक्ति वैजयंती की माला धारण करता है, उसे सकारात्मक फल मिल सकते हैं। नकारात्मक विचार खत्म होते हैं। ये माला किसी भी सोमवार या शुक्रवार को पहन सकते हैं। धारण करने से पहले गंगाजल या शुद्ध जल से धो लेना चाहिए।
Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios