Asianet News HindiAsianet News Hindi

National Pollution Control Day 2021: Electric vehicles साबित हो सकते हैं गेम चेंजर, तेजी से बढ़ रहा उपयोग

National Pollution Control Day का प्रमुख उद्देश्य इंडस्ट्रियल डिजास्टर मैनेजमेंट और उससे संबंधित विषयों को लेकर  जागरूकता फैलाना है। इस दिन gas tragedy in bhopal हुई थी जिसके कारण हजारों लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी।  उन लोगों को सम्मान देने और उन्हें याद करने के लिए हर साल देश भर में ये दिन मनाया जाता है। 

National Pollution Control Day 2021 Electric vehicles can prove to be a game changer rapidly increasing usage auto news
Author
Bhopal, First Published Dec 2, 2021, 3:50 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

ऑटो डेस्क,National Pollution Control Day: 2 दिसंबर को हर साल नेशनल पॉल्यूशन कंट्रोल डे सेलीब्रेट किया जाता है। बढ़ते प्रदूषण और उसके प्रभावों को लेकर लोगों को जागरूक करने के लिए National Pollution Control Day का ऐलान किया गया है। देशभर में इस दिन   प्रदूषण नियंत्रण अधिनियमों के महत्व को समझाया जाता है। इस दिन का हवा,जल, ध्वनि और मिट्टी के प्रदूषण के खिलाफ भी जागरुकता फैलाई जाती है। वहीं मौजूदा समय में ईवी वाहनों को प्रमोट करके प्रदूषण पर नियंत्रण करने की कवायद की जा रही है। प्राकृतिक संसाधनों के दौहन को कम से कम करने के विषय में भी जागरूकता फैलाना का काम जारी है।

लोगों को जागरुक करना ही लक्ष्य
 नेशनल पॉल्यूशन कंट्रोल डे का प्रमुख उद्देश्य इंडस्ट्रियल डिजास्टर मैनेजमेंट और उससे संबंधित विषयों को लेकर  जागरूकता फैलाना है। इस दिन भोपाल में गैस त्रासदी हुई थी जिसके कारण हजारों लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी। भोपाल के यूनियन कार्बाइड प्लांट से मिथाइल आइसोसाइनेट गैस का रिसाव हुआ था।  उन लोगों को सम्मान देने और उन्हें याद करने के लिए हर साल देश भर में ये दिन मनाया जाता है।  नेशनल पॉल्यूशन कंट्रोल डे का मुख्य उद्देश्य इंडस्ट्रियल डिजास्टर मैनेजमेंट और उसके नियंत्रण के लिए जागरूकता फैलाना है। 

दिमाग, फेफड़े शरीर पर हो रहा विपरीत असर

हवा में फैले प्रदूषण के विपरीत असर को समझाने के लिए नेशनल पॉल्यूशन कंट्रोल डे काफी अहम दिन हो जाता है।  नेशनल हेल्थ पोर्टल के मुताबिक हर साल 70 लाखन लोग एय पॉल्यूशन की वजह से मौत के आगोश में चले जाते हैं। स्थिति ये है कि पूरी दुनिया में हर 10 में से 9 लोगों को शुद्ध हवा नसीब नहीं हो रही है। हवा में मौजूद प्रदूषक तत्व हमारे दिल, दिमाग और फेफड़ों पर बुरा असर डालते हैं। यही वजह है कि सरकारें ग्रीन एनर्जी की तरफ तेजी से बढ़ रही हैं। 

इलेक्ट्रिक वाहनों से सुधरेगी स्थिति
मौजूदा समय में इलेक्ट्रिक वाहनों को लेकर लोग उत्सुक हैं। ये वाहन पेट्रोल वाहनों की अपेक्षा महंगे जरुर हैं। लेकिन जिस तरह से तेल का दम बढ़ रहा है, ये वाहन किफायती नजर आने लगे हैं। इनमें सबसे अच्छी बात यही है कि ये कम से कम वायु प्रदूषण फैलाते हैं। बैटरी चलित वाहन से कार्बन उत्सर्जन कीमात्रा में भारी कमी आएगी, इसलिए इन वाहनों को प्रमोट करने के लिए भारत में विभिन्न राज्यों की सरकारें इन वाहनों की खरीद पर सब्सिडी भी मुहैया करा रही हैं। 

ये भी पढ़ें-
Bajaj ला रहा नया Electric Scooter, Ola S1 सहित नामी कंपनियों के ईवी को देगा कड़ी टक्कर
Maruti Suzuki की कारों के इंजन से आ रहा अजीब साउंड, ग्राहकों ने बताया Unusual vibrations, सर्विस
आप भी तलाश कर रहे हैं सस्ता Electric Scooter, स्पेसिफिकेशन, फीचर, कीमत सहित देखें ये 5 बेस्ट
दुनिया की सबसे बड़ी Car manufacturing company के उत्पादन में बड़ी गिरावट, Omicron variants ने
Honda cruiser bike का बदल गया रंग-रूप, देखें इसके बेमिसाल फीचर्स और दमदार इंजन की खूबियां
Volkswagen Tiguan Facelift SUV ब्रांड इंडिया 2.0 के तौर पर की जाएगी लॉन्च, भारत के इस शहर में लगाई

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios