पटना। बिहार में 243 विधानसभा सीटों के लिए हुए चुनाव को लेकर कई एग्जिट पोल सामने आ चुके हैं। इस बार बीजेपी को जबरदस्त फायदा मिलता दिख रहा है। ऐसा पहली बार है जब लगभग सभी पोल्स में बीजेपी, सहयोगी दल जेडीयू से भी बड़ा दल बनकर सामने आया है। हालांकि पार्टी के स्तर पर भले ही बीजेपी को बिहार मे जबरदस्त फायदा मिला, लेकिन उसका गठबंधन फिलहाल सत्ता की रेस में फिसलता दिख रहा है। सभी बड़े एग्जिट पोल्स में महागठबंधन आगे है। 

टाइम्स नाऊ सी वॉटर के सर्वे में 85 सीटों के साथ आरजेडी के बाद बीजेपी 70 सीट जीतती दिखाई दे रही है। जबकि एबीपी न्यूज़-सीवोटर के सर्वे में भी बीजेपी को 66-74 सीटें मिल रही है। इस सर्वे में आरजेडी को आरजेडी को 81-89 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया है। रिपब्लिक के सर्वे में भी बीजेपी को 60-75 मिलने का अनुमान लगाया गया है। 

खतरे में नीतीश की कुर्सी 
बताते चलें कि एनडीए में बीजेपी के साथ जेडीयू, हिन्दुस्तानी अवामी मोर्चा और विकासशील इंसान पार्टी शामिल है। सत्ता विरोधी लहर और चिराग पासवान की एलजेपी की वजह से जेडीयू को बहुत नुकसान उठाना पड़ा है। एग्जिट पोल्स के नतीजे सही साबित हुए तो नीतीश कुमार की कुर्सी खतरे में है। 

अकेले लड़ने से फायदा या नुकसान में चिराग 
चिराग पासवान ने बहुत दावे किए थे मगर उनकी एलजेपी का प्रदर्शन भी बहुत खराब है। हालांकि वो अकेले लड़ने के बावजूद पिछली बार के दो विधायकों के मुक़ाबले इस बार उन्हें ज्यादा सीटें मिलती दिख रही हैं। एलजेपी का वोट प्रतिशत भी इस बार बढ़ता नजर आ रहा है। 

यह भी पढ़ें :- 
एग्जिट पोल्स में किसे कितनी सीट