Asianet News Hindi

जदयू ने दिखाए विकास के ये 7 सपने, घोषणा पत्र में किया सक्षम बिहार-स्वावलंबी बिहार का वादा

जो युवा आईटीआई या पॉलीटेक्निक में नहीं पढ़ रहे हैं और नए कौशल का प्रशिक्षण पाना चाहते हैं, उनके लिए हर जिले में कम से कम एक मेगा स्किल सेंटर खोला जाएगा। युवाओं को अपना व्यवसाय लगाने के लिए सरकार मदद करेगी। व्यवसाय के लिए परियोजना लागत का 50 प्रतिशत (अधिकतम 3 लाख रुपए) अनुदान दिया जाएगा।

JDU Bihar elections, CM Nitish Kumar, Bihar assembly elections asa
Author
Bihar, First Published Oct 11, 2020, 2:39 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना (Bihar) । बिहार विधानसभा चुनाव के लिए जदयू ने आज अपना घोषणापत्र जारी कर दिया। इस घोषणा पत्र को निश्चय पत्र 2020 के नाम से जारी किया गया है। जिसपर लिखा गया है सक्षम बिहार स्वावलंबी बिहार है। घोषणा पत्र में सात निश्चय पार्ट टू की योजनाओं को विस्तार से बताया गया है। इसे सीएम नीतीश कुमार ने ट्टीट भी किया है। जिसके बारे में हम आपको बता रहे हैं।

वादा नंबर-01
युवा शक्ति- बिहार की प्रगति

युवाओं को और बेहतर तकनीकी प्रशिक्षण की व्यवस्था की जाएगी, जिससे रोजगार के बेहतर अवसर प्राप्त हो सकें। बिहार में उद्यमिता को बढ़ावा दिया जाएगा, जिससे युवा स्वयं उद्यमी बन सकें और अन्य लोगों को भी रोजगार के अवसर उपलब्ध करा सकें। राज्य के प्रत्येक आईटीआई एवं पॉलीटेक्निक संस्थानों में प्रशिक्षण की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए उच्चस्तरीय सेंटर ऑफ एक्सेलेंस बनाया जाएगा। आईटीआई एवं पॉलीटेक्निक में पढ़ रहे बच्चों को सोलर, ड्रोन तकनीक, ऑप्टिकल फाइबर एवं नेटवर्किंग, ट्रांसफॉर्मर, मैनुफैक्चरिंग, इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी इत्यादि जैसे कई क्षेत्रों में प्रशिक्षण दिया जाएगा। वैसे युवा जो आईटीआई एवं पॉलीटेक्निक में नहीं पढ़ रहे हैं और नए कौशल का प्रशिक्षण पाना चाहते हैं, उनके लिए हर जिले में कम से कम एक मेगा स्किल सेंटर खोला जाएगा। युवाओं को अपना व्यवसाय लगाने के लिए सरकार मदद करेगी। व्यवसाय के लिए परियोजना लागत का 50 प्रतिशत (अधिकतम 3 लाख रुपए) अनुदान दिया जाएगा।

वादा नंबर-02
सशक्त महिला- सक्षम महिला

महिलाओं को उद्यम लगाने पर परियोजना लागत का 50 प्रतिशत (अधिकतम 5 लाख रुपए) अनुदान मिलेगा। इंटर पास अविवाहित महिलाओं को 25,000 और स्नातक पास महिलाओं को 50,000 रुपए मिलेंगे ताकि वे आगे पढ़ाई कर सकें। पुलिस थाना, प्रखंडों, अनुमंडल एवं जिलास्तरीय कार्यालयों में आरक्षण के अनुरूप महिला की भागीदारी बढ़ाई जाएगी।

वादा नंबर-03
हर खेत तक सिंचाई का पानी

हर संभव माध्यम से हर खेत तक सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध कराया जाएगा।

वादा नंबर-4
स्वच्छ गांव- समृद्ध गांव

सभी गांवों में सोलर स्ट्रीट लाईट लगाया जाएगा। गांव में कचरा प्रबंधन की व्यवस्था की जाएगी। वार्ड स्तर पर नालों एवं गलियों की सफाई कराई जाएगी। हर घर से ठोस कचरा इकट्ठा किया जाएगा। आधुनिक तकनीकों का इस्तेमाल कर दुग्ध उत्पादन, मुर्गी पालन, मछली पालन आदि को बढ़ावा दिया जाएगा।

वादा नंबर-05
स्वच्छ गांव-विकसित शहर

सभी शहरों में ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन की व्यवस्था उपयुक्त तकनीक के माध्यम से की जाएगी। वृद्धजनों के लिए आश्रय की व्यवस्था की जाएगी। बेघर और भूमिहीन गरीबों के लिए बहुमंजिला भवन बनाक आवासन उपलब्ध काराया जाएगा। साथ ही शहर और महत्वपूर्ण नदी के घाटों पर विद्युत शवदाह गृह बनवाया जाएगा। इसके अलावा शहरों में स्ट्रॉर्म वाटर ड्रेनेज सिस्टम को विकसित किया जाएगा।

वादा नंबर-06
सुलभ संपर्कता

आस-पास के गांवों को जोड़ते हुए मुख्य सड़क एवं महत्वपूर्ण स्थानों (प्रखंड/थाना/अनुमंडल) अथवा महत्वपूर्ण सुविधाओं जैसे बाजार, अस्पताल, राज्य हाईवे और नेशनल हाईवे तक संपर्कता के लिए नई सड़कों का निर्माण कराया जाएगा। शहरी क्षेत्रों में जाम की समस्या से मुक्ति एवं सुचारू यातायात के संचालन के लिए आवश्यकतानुसार बाईपास अथवा फ्लाईओवर का निर्माण कराया जाएगा।

वादा नंबर 7
सबके लिए अतिरिक्त स्वास्थ्य सुविधाएं

सबके लिए अतिरिक्त स्वास्थ्य सुविधा: प्रत्येक 8-10 पंचायतों पर पशु अस्पताल की व्यवस्था की जाएगी। पशुओं के लिए चिकित्सा सुविधा, टीकाकरण, कृत्रिम गर्भाधान, कृमिनाशक जैसी सेवाओं की डोर स्टेप डिलिवरी कराने की ठोस व्यवस्था की जाएगी। लोग कॉल सेन्टर में फोन कर अथवा मोबाइल ऐप के माध्यम से इन सुविधाओं को प्राप्त कर सकेंगे। पशुओं की सभी प्रकार की चिकित्सा सुविधाएं निःशुल्क रहेंगी।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios