पटना (Bihar) । कट्टर मुस्लिम नेता माने जाने वाले असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की पार्टी एआईएमआईएम (AIMIM) ने भी बिहार सियासत में इंट्री की है। अब बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) में उम्मीदवार उतारने की तैयारी में जुट गई है। खबर है कि अपनी सोच को दरकिनार कर बिहार में हिन्दू कार्ड खेल सकती है। कुछ सीटों से हिन्दू आदिवासी उम्मीदवार को टिकट दे सकती है। 

..तो चौंकाने वाले हो सकते हैं नतीजे
बताते चले कि यदि ऐसा हुआ तो ओवैसी की पार्टी पूर्णिया जिले के कुछ सीटों पर बड़ा फेर बदल भी कर सकती है, क्योंकि अगर सदर विधानसभा सीट को ही देखे तो वहां मुस्लिम, आदिवासी और अतिपिछड़ा वर्ग के कुल 42 प्रतिशत मतदाता हैं। ऐसे में अगर इन 42 प्रतिशत मतदाताओं को अगर एकजुट कर लेती है तो 10 नवंबर को नतीजा चौंकाने वाला भी हो सकते हैं।

कौन हैं विजय उरांव
पूर्णिया नगर निगम के पार्षद सह स्थायी समिति के सदस्य विजय उरांव ने एआईएमआईएम की सदस्यता ग्रहण किए हैं, जिसे सदर विधानसभा सीट से उम्मीदवारी का दावा पेश कर रहे हैं। वहीं, ओवैसी ने उनपर दांव खेलने का मन बना रही है, क्योंकि वो आदिवासी समाज के चर्चित चेहरा है। विजय उरांव वर्तमान में नगर निगम के पार्षद होने के साथ-साथ स्थायी समिति के सदस्य भी हैं।

7 नवंबर को होगा पूर्णिया जिले में मतदान
बिहार विधानसभा चुनाव में पूर्णिया जिला में तीसरे चरण में रखा गया है। जहां 7 नवंबर को मतदान होगा है। इसके साथ ही राज्य में आदर्श आचार संहिता भी लागू हो चुका है।