पटना/गया। बिहार में 243 विधानसभा सीटों पर (Bihar Assembly polls 2020) चुनाव की गतिविधि तीखी और तेज होने लगी है। विपक्ष पर हमले में नेताओं की जुबान भी फिसलने लगी है। हालांकि अभी चुनाव की तारीखों का ऐलान नहीं हुआ है मगर अब अलग-अलग नेताओं के बयान में यह साफ नजर आने लगा है। जन अधिकार पार्टी चीफ (JAP) और पूर्व दिग्गज सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव (Pappu Yadav) की जुबान भी पार्टी के एक कार्यक्रम में फिसल गई और उन्होंने एक साथ कई दिग्गज नेताओं को लपेट लिया। खास परिस्थित में खुद को भगवान भी बता दिया।  

दरअसल, पप्पू यादव गया जिले के हमजापुर में पार्टी जाप प्रत्याशी ओमेर खान (Omer Khan) उर्फ टिक्का खान के सपोर्ट में जनसंवाद करने आए थे। इस दौरान उन्होंने आरोप लगाए कि नीतीश, लालू और भालू ने मिलकर बिहार के हिंदू और मुसलमानों के हाथों में पत्थर थमा दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को जुमलेबाज तक करार दे दिया। पप्पू यादव ने यह भी कहा कि अगर वो साउथ में होते तो आज की तारीख में भगवान होते। 

तो 20 साल पहले मैं भगवान होता 
पूर्व सांसद ने कहा- "अगर मैं दक्षिण भारत में पैदा होता तो 20 साल पहले मैं भगवान होता। अगर लालू यादव (Lalu Yadav), नीतीश कुमार (Nitish Kumar) और रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) से पहले पैदा होता तो ये तीनों कभी नहीं पैदा होते। मेरे पास मगध का इतिहास है जो दुनिया बदल सकती (अब भी) है।" पप्पू यादव कहा- पीएम मोदी 71 साल के जुमलेबाज और झूठ के ठेकेदार हैं। अब उनकी उम्र बुजुर्ग मंडली वाली है। मोदी ने कोरोना महामारी में अंबानी (Ambani) और अडानी (Adani) जैसे जमींदारों को पैदा करने का काम किया। सिर्फ युवा ही दुनिया बदल सकते हैं। मगर युवा जीना नहीं जानते और नेताओं की भी नियत अच्छी नहीं है। 

3 साल में एशिया में कर दूंगा बिहार का नाम 
गया जिले में पप्पू यादव ने जन अधिकार पार्टी के उम्मीदवार को समर्थन देने की अपील की। उन्होंने दावा किया कि वो कुछ ही वक्त में सूरत बदल देंगे। पूर्व सांसद ने कहा- "अगर तीन साल के अंदर आपके सपनों को पूरा नहीं किया तो पप्पू यादव दोहरी चरित्र वाला नेता होगा और राजनीति बंद कर देगा।" पप्पू यादव ने दावा किया कि वो हाईकोर्ट का एफिडेविट लेकर आएंगे और तीन साल में एशिया में बिहार का नाम रोशन कर देंगे। अगर वो ऐसा नहीं कर पाए तो कभी बिहार में पैर नहीं रखेंगे।" उन्होंने 2 करोड़ लोगों को रोजगार देने का वादा करते हुए कहा- नीतीश को केवल ऐश्वर्या राय (तेजप्रताप की पत्नी) और सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की याद आती है। 

कौन हैं पप्पू यादव?
पप्पू यादव बिहार की राजनीति का जाना माना नाम हैं। पूर्णिया जिले में तगड़ा आधार है। एक जमाने में लालू यादव के बेहद करीबी रहें। लेकिन बाद में राजनीतिक राहें अलग हो गईं। 1967 में पैदा हुए पप्पू यादव के ऊपर हत्या और रंगदारी मांगने के आपराधिक आरोप भी लगे। उन्हें काफी समय तक जेल में भी रहना पड़ा। पप्पू यादव विधानसभा और लोकसभा में प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। उन्हें लोकसभा में अच्छा प्रदर्शन करने वाले सांसद के रूप में सम्मानित भी किया गया। 2015 में उन्होंने जन अधिकार पार्टी की स्थापना की थी। पप्पू यादव की पत्नी रंजीता रंजन (Ranjeeta Ranjan) कांग्रेस (Congress) की नेता और पूर्व सांसद हैं।