Asianet News Hindi

दलित नेता की हत्या मामले पर सियासत तेज, BJP ने पूछा- तेजस्वी पर 50 लाख मांगने, हत्या का आरोप किसने लगाया?

आरजेडी के आरोपों पर बिहार बीजेपी के प्रभारी भूपेंद्र यादव ने तीखा हमला किया और कई सवाल पूछे हैं। इससे पहले नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश कुमार को खुला खत लिखा था। 
 

Politics on shakti malik assassination in bihar BJP asked question to rjd Tejashwi
Author
Patna, First Published Oct 8, 2020, 4:40 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना। पूर्णिया जिले में दलित नेता शक्ति मालिक की हत्या के मामले को लेकर बिहार की राजनीति गर्म हो गई है। जेडीयू-बीजेपी और आरजेडी आमने-सामने हैं। आरजेडी के आरोपों पर बिहार बीजेपी के प्रभारी भूपेंद्र यादव ने तीखा हमला किया और कई सवाल पूछे हैं। इससे पहले नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश कुमार को खुला खत लिखा था। 

आरजेडी ने पूरे मामले में को साजिश करार देते हुए मीडिया पर ठीकरा भी फोड़ा है। एक ट्वीट में आरजेडी ने लिखा- "JDU BJP के दबाव में शक्ति मलिक के परिजनों ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव व तेजप्रताप यादव पर राजनीति से प्रेरित आरोप लगाए तो बिहार की गोदी मीडिया ने 4 दिन तक लगातार ब्रेकिंग न्यूज़, ब्रेकिंग न्यूज़ करके चलाया! पर अब ऐसे चुप हैं जैसे चैनलों के मालिक को सांप सूंघ गया है!"

बीजेपी ने आरजेडी से पूछे तीखे सवाल 
आरजेडी के इसी ट्वीट को रीट्वीट करते हुए भूपेंद्र यादव ने पूछा- "तेजस्वी पर ₹50 लाख मांगने का आरोप लगाया खुद दलित नेता शक्ति मलिक ने। जातिसूचक शब्दों से अपमानित करने का तेजस्वी पर आरोप शक्ति ने लगाया। हत्या का आरोप तेजस्वी पर लगाया शक्ति की पत्नी ने। RJD कह रही कि ये सब BJP-JDU करा रहे। आरोप आपके दल से, दोष किसी और को? ये कैसे चलेगा भाई?"

तेजस्वी का खुला खत 
इससे पहले तेजस्वी ने खुला खत लिखते हुए पूरे मामले में देश-दुनिया की किसी भी एजेंसी से जांच करा लेने का चैलेंज दिया। तेजस्वी ने बिहार पुलिस और नीतीश सरकार पर आरोप लगाया और पूरे मामले को गहरी साजिश भी करार दिया। आरजेडी नेता ने मीडिया रिपोर्टिंग पर भी सवाल उठाए थे। 

चुनाव लड़ने वाले थे शक्ति मालिक 
बताते चलें कि कुछ दिन पहले शक्ति मालिक की पूर्णिया में हत्या कर दी गई थी। शक्ति आरजेडी की एससी/एसटी यूनिट में पदाधिकारी थे। वो विधानसभा चुनाव लड़ना चाहते थे। चुनाव से पहले उन्होंने आरजेडी छोड़ दी थी और निर्दलीय लड़ने के इच्छुक थे। शक्ति की हत्या मामले में तेजस्वी-तेजप्रताप समेत कई लोगों के खिलाफ नामजद एफ़आईआर हुई है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios