Asianet News Hindi

बिहार चुनाव: 16 दिन में राहुल गांधी की 5 वर्चुअल रैलियां, 21 अक्तूबर से करेंगे अभियान की शुरुआत

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष वर्चुअल रैलियों के साथ-साथ फिजिकल रैलियां भी करेंगे। गांधी परिवार के दोनों दिग्गज पार्टी की 30 स्टार कैम्पेनर नेताओं की सूची में शामिल हैं। 

Rahul Gandhi will start campaign from 21 October 5 virtual rallies in 16 days for bihar polls
Author
Patna, First Published Oct 13, 2020, 7:52 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना। महागठबंधन में आरजेडी (RJD) की अहम सहयोगी कांग्रेस (Congress) के अभियान का प्रमुख चेहरा राहुल गांधी (Rahul Gndhi) और प्रियंका गांधी (Priyanka Gndhi) ही हैं। राहुल 21 अक्टूबर से बिहार में विधानसभा अभियान (Bihar Polls 2020) की शुरुआत करेंगे। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष वर्चुअल रैलियों के साथ-साथ फिजिकल रैलियां भी करेंगे। गांधी परिवार के दोनों दिग्गज पार्टी की 30 स्टार कैम्पेनर नेताओं की सूची में शामिल हैं।

राहुल की छह वर्चुअल रैलियों की तैयारी लगभग पूरी कर ली गई है। हालांकि रैलियों का क्षेत्र अभी तक निर्धारित नहीं किया जा सका है। चर्चाओं की मानें तो पहली रैली 21 अक्टूबर को होगी। इसके बाद इसी महीने में 24, 27 और 29 अक्टूबर को भी वर्चुअल रैलियां हैं। 1 और 5 नवंबर को भी रैलियां होंगी। प्रियंका गांधी भी वर्चुअल रैलियां करेंगी मगर अभी तारीखों पर फैसला नहीं लिया जा सका है। 

एक दो दिन में जारी हो सकता है शेड्यूल 
एक-दो दिन के अंदर रैलियों का पूरा शेड्यूल जारी कर दिया जाएगा। जानकारी के मुताबिक राहुल-प्रियंका की रैलियों को तीनों फेज के चुनाव के मद्देनजर डिजाइन किया गया है। राहुल बिहार आकर 6 जनसभाओं को भी संबोधित करेंगे। जबकि उनकी बहन प्रियंका भी बिहार में तीन जनसभाओं को करेंगी। राहुल-प्रियंका महागठबंधन नेताओं के सतह साझा रैलियां भी करेंगे। हालांकि इस बारे में अभी साफ नहीं हो पाया है। 

बिहार में एनसीपी को कांग्रेस ने नहीं दिया भाव 
उधर, महाराष्ट्र में कांग्रेस-शिवसेना के साथ सरकार में शामिल एनसीपी (NCP) बिहार में महागठबंधन (Mahagathbandhan) का हिस्सा बनना चाहती थी लेकिन किसी ने भी भाव नहीं दिया। अब पार्टी अकेले चुनाव लड़ेगी। बिहार में महागठबंधन के बर्ताव पर एनसीपी का दर्द सामने आया है। पार्टी के सीनियर नेता प्रफुल्ल पटेल ने कहा- "बिहार में कांग्रेस-आरजेडी ने पहले ही दरकिनार कर दिया था। शिवसेना ने भी साथ नहीं दिया। एनसीपी बिहार में महागठबंधन का हिस्सा होना चाहती थी, मगर अब हम अपने दम पर चुनाव लड़ेंगे।" एनसीपी बिहार में 40 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ सकती है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios