Asianet News Hindi

बिहार में कोरोना के 150 नए मरीज मिले, 3500 पार पहुंचा आंकड़ा, बीते 24 घंटों में सबसे ज्यादा मौत की पुष्टि

बिहार में कोरोना के मरीजों की संख्या थमने का नाम नहीं ले रही है। आज दिन के पहले अपडेट में राज्य में कोरोना के 150 नए मरीज मिले। इन 150 मरीजों के साथ ही राज्य में कोरोना के कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 3509 हो गई है। 

150 new corona positve patient found in bihar total number goes to 3509 pra
Author
Patna, First Published May 30, 2020, 4:23 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना। लॉकडाउन में मिली ढील के बाद बिहार में जनजीवन अब धीरे-धीरे सामान्य हो रहा है। बाजारें खुल चुकी हैं, निजी वाहनों की आवाजाही भी पहले से कही ज्यादा हो रही है। लेकिन इस ढील के बीच से राज्य में कोरोना के मरीजों की संख्या लागात बढ़ रही है, जो चिंता का कारण है। आज दिन के पहले अपडेट में राज्य में कोरोना के 150 नए मरीज मिले। इन 150 मरीजों के साथ ही राज्य में कोरोना के मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 3509 हो गई। इसके साथ-साथ शुक्रवार को राज्य भर में कोरोना से चार मौत की पुष्टि हुई। ऐसे में अभी तक राज्य में कोरोना से हुई मौतों की संख्या भी बढ़कर 20 हो गई।

पटना में दो जबकि भागलपुर व समस्तीपुर में एक-एक मौत
कोरोना से शुक्रवार को बिहार में जिन चार मरीजों की मौत हुई उसमें से दो पटना के रहने वाले थे। इसके अलावा एक-एक कोरोना संक्रमित मरीज की मौत भागलपुर और समस्तीपुर में हुई। राज्य में मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 20 हो गया है। पटना के आईजीआईएमएस और एनएमसीएच में भर्ती दो मरीजों की मौत हुई। आईजीआईएमएस में भर्ती मधेपुरा के 19 साल का राकेश कुमार ब्रेन टीबी से पीड़ित था। मरने के बाद उसकी जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई। वहीं एनएमसीएच में भर्ती कोरोना पॉजिटिव बुजुर्ग की इलाज के दौरान मौत हो गई। मृतक नंदजी पांडे सीवान के निवासी थे। वे पीएमसीएच से रेफर हुए थे। 

प्रवासी के भागने से संक्रमण का डर
दूसरी ओर भागलपुर में कोरोना से पहली मौत हुई है। समस्तीपुर में 26 मई को कोलकाता के प्रवासी (30) की मौत हो गई थी। उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। उसे श्रमिक स्पेशल ट्रेन से बीमार होने पर समस्तीपुर में उतारा गया था। बता दें कि राज्य में इस समय प्रतिदिन श्रमिक स्पेशल ट्रेन से हजारों प्रवासी आ रहे हैं। जिन्हें स्टेशन पर स्क्रीनिंग के बाद घर तक भेजने का निर्देश सरकार ने दिया है। लेकिन इसमें बार लापरवाही होती है। कई जगहों से प्रवासियों को बिना सोशल डिस्टेसिंग फॉलो किए वाहनों द्वारा पहुंचाने की तस्वीरें सामने आ चुकी है। कई प्रवासी स्टेशन के आउटर पर ट्रेनों के खड़ी होते ही भाग खड़े होते हैं। जिनसे संक्रमण फैलने का डर बना है। 

किसी ने किया शॉक्ड तो किसी ने रोंगटे खड़े कर दिया...क्लिक करके देखें ऐसे ही वीडियो...

कांच तोड़ चलती कार में कछुआ ने किया अटैक, देखें चौंकाने वाला वीडियो

अपने बेटे को मुसीबत में नहीं देख पाई ये मां, लगा दी जान ताकि बच पाए कलेजा का टुकड़ा

समुद्र किनारे बहती हुई आई 40 फीट के 'दानव' की लाश, हटाने में छूटे पसीने

जन्म के तुरंत बाद मिट्टी में दफनाया जिंदा नवजात, रोने की आवाज से मिली जिंदगी

कोरोना के कारण कोमा में चली गई थी प्रेग्नेंट महिला लेकिन...

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios