सहरसा। लॉकडाउन में भी बिहार में अपराध का ग्राफ कम होता नजर नहीं आ रहा है। सीतामढ़ी और बेगूसराय में हत्या की घटना के बाद अब सहरसा से एक लड़की के साथ दरिंदगी का मामला सामने आया है। जिले के  
महिषी थाना क्षेत्र के सरौनी गांव के समीप सोमवार की देर शाम पूर्वी कोसी तटबंध के बगल स्थित झाड़ी से एक अज्ञात युवती का शव पुलिस ने बरामद किया। 20 वर्षीय युवती की कहीं अन्यत्र हत्या कर लाश को ठिकाना लगाने के लिए पूर्वी कोसी तटबंध के किनारे फेंक दी गई। पुलिस ने लाश को सोमवार की देर शाम ही बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए सहरसा भेज दिया।

बेरहमी से पिटाई के बाद हत्या की आशंका
महिषी थानाध्यक्ष कमलेश कुमार ने बताया कि उन्हें देर शाम सूचना मिली कि एक अज्ञात शव कोशी पूर्वी तटबंध के समीप झाड़ी में पड़ी है। अज्ञात शव की सूचना मिलते ही एएसआई दिनेशचंद्र झा एवं एएसआई बिनोद राय के नेतृत्व में पुलिस टीम को घटनास्थल पर भेजा गया, जहां से शव को बरामद किया गया।

अज्ञात शव को लेकर एएसआई दिनेशचंद्र झा ने बताया कि जब वे लोग स्थल पर पहुंचे तो बंद बोरा में शव पाया गया। जिसे निकालने पर ऐसा लगा कि युवती की हत्या से पूर्व बेरहमी से पिटाई की गई होगी। फिर उसकी हत्या कर दी गई।

गैंगरेप व ऑनर कीलिंग की भी चर्चा
पुलिस ने हत्या के बाद शव को यहां पर फेंके जाने की आशंका जताई है। शव के साथ एक झोला में धोती बरामद हुआ, जिसपर गुरुदेव मॉल सुपौल लिखा है। समाचार लिखे जाने तक शव की शिनाख्त नहीं हो पाई थी। पुलिस शव के पहचान सहित हत्या के अन्य बिंदुओं पर अनुसंधान कर रही है। वहीं लोगों में चर्चा है कि युवती के साथ गैंगरेप की घटना को भी अंजाम दिया गया होगा। जिसके बाद हत्या कर शव को यहां फेंक दिया गया हो। हालांकि कुछ लोग ऑनल कीलिंग की बात भी कर रहे हैं।