पटना। बिहार में कोरोना के 90 नए मरीज मिले हैं। इन 90 मरीजों के साथ ही राज्य में कोरोना मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 3275 हो गई है। आज मिले 90 नए मरीजों में से ज्यादातर प्रवासी हैं, जो बीते दिनों बिहार आई श्रमिक स्पेशल ट्रेन से पहुंचे थे। प्रवासियों में से रेड जोन वाले क्षेत्रों से आने वाले कामगारों को प्रखंड स्तरीय क्वारेंटाइन सेंटर में रखा गया था। जहां से सर्दी-खांसी अथवा बुखार के लक्षण दिखने वाले मरीजों का सैंपल जांच के लिए पटना भेजा गया था। इन्हीं सैंपलों में से 90 नए कोरोना संक्रमितों की पहचान की गई। राज्य में अबतक कोरोना से 16 लोगों की मौत हो चुकी है। 

18 मरीज शेखपुरा के, गोपालगंज से 7 नए केस
आज मिले 90 नए मरीजों में से शेखपुरा जिले से सबसे ज्यादा 18 नए मरीज मिले हैं। जबकि गोपालगंज के 8, मधुबनी से 7, समस्तीपुर के 6, पूर्णिया और जहानाबाद से 5, जमुई से 4, लखीसराय और गया से 3, औरंगाबाद और बांका से 2-2 जबकि मुंगेर, वैशाली, सारण, पटना, भोजपुर और नवादा जिले से एक-एक मरीज मिले हैं। इस समय राज्य में सबसे ज्यादा राजधानी पटना कोरोना से सर्वाधिक संक्रमित जिला है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार राज्य में कोरोना के 1050 मरीज अभी तक स्वस्थ्य हो चुके हैं। 

लॉकडाउन के बाद भी लगातार बढ़ रहे मामले
उल्लेखनीय है कि राज्य में कोरोना का पहला मामला 22 मार्च को सामने आया था। उसी दिन मुख्यमंत्री ने इससे बचाव के लिए राज्य में लॉकडाउन की घोषणा की थी। बाद में राष्ट्रीय लॉकडाउन लगा। लेकिन लॉकडाउन के बाद भी राज्य सहित पूरे देश में कोरोना के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। हालांकि विशेषज्ञों का मानना है कि यदि लॉकडाउन नहीं लगता तो कोरोना के मरीजों की संख्या और तेजी से बढ़ती। फिलहाल देश में लॉकडाउन का चौथा फेज चल रहा है। इस बीच सरकार ने कई छूट भी दी है।