Asianet News HindiAsianet News Hindi

Bihar : अरवल के बाद अब गया में फर्जीवाड़ा, योगी आदित्यनाथ, हेमंत सोरेन और राबड़ी देवी को लगी कोरोना वैक्सीन

टेकारी में उत्तर-प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ , झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी को वैक्सीन का पहला डोज लगा दिया गया है। जो लिस्ट तैयार की गई है उसमें सूबे के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे का भी नाम है, जिन्हें पहला डोज लगाया गया है।

bihar coronavirus vaccine fraud in gaya after arwal, uttar pradesh cm yogi adityanath Jharkhand cm hemant soren and Rabri Devi vaccinated stb
Author
Gaya, First Published Dec 7, 2021, 9:06 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

गया : बिहार (Bihar) में कोविड टेस्ट और वैक्सीनेशन में फर्जीवाड़ा थमने का नाम नहीं ले रहा है। अरवल (Arwal) जिले के बाद अब गया जिले में भी ऐसा ही एक चौकाने वाला मामला सामने आया है। जिले के टेकारी में उत्तर-प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath), झारखंड (Jharkhand) के सीएम हेमंत सोरेन (Hemant Soren) और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी (Rabri Devi) को वैक्सीन का पहला डोज लगा दिया गया है। जो लिस्ट तैयार की गई है उसमें सूबे के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे का भी नाम है, जिन्हें पहला डोज लगाया गया है। इससे पहले अरवल जिले में कोरोना जांच में फर्जीवाड़ा का मामला सामने आया था। करपी में पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi), केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) और एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) समेत कई हस्तियों का भी कोरोना जांच कर दिया गया था।

स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप, केस दर्ज
वैक्सीनेशन में फर्जीवाड़ा के मामले का जैसे ही खुलासा हुआ स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में एक फोन नंबर पर केस दर्ज कराया गया है। फोन नंबर जम्मू का है। बाकी दो नंबर बंद पड़े हैं, जिसकी वजह से उसकी लोकेशन की जानकारी फिलहाल नहीं मिल सकी है। गया के सिविल सर्जन केके राय के आदेश पर टिकारी थाने में केस दर्ज कराया गया है। इसके बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि टिकारी ब्लॉक के उप-स्वास्थ्य केंद्र अलीपुर की ANM ऊषा कुमारी, जिसका मोबाइल नंबर 9525491600 है।

यूजर आईडी और पासवर्ड बंद
स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक मोबाइल नंबर को कोविड वैक्सीनेशन के लिए कोविड वैक्सीनेशन पोर्टल पर यूजर आईडी और पासवर्ड के रूप में दर्ज किया गया था। ANM का यूजर और पासवर्ड चार हायर वैक्सीनेटर बबन कुमार, उमाशंकर सिंह, आकाश कुमार और रविराज को मुहैया कराया गया था। लेकिन, उस यूजर और आईडी का गलत इस्तेमाल करते हुए कुछ राजनीतिक लोगों का वैक्सीनेशन उस आईडी से 7 दिसंबर को दोपहर 11 बजे कर दिया गया। फिलहाल स्वास्थ्य विभाग की ओर से सभी आईडी और यूजर को बंद कर दिया गया है। साथ ही संबंधित मामले में केस भी दर्ज कराया गया है।

जांच के बाद होगी कड़ी कार्रवाई
अब जांच के बाद कड़ी कार्रवाई की बात कही जा रही है। साइबर एक्सपर्ट इस मामले की जांच कर दोषियों को जेल के सलाखों के पीछे भेजेंगे। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। सभी ANM को आदेश दिया गया है कि वे रोजाना अपना यूजर आईडी और पासवर्ड बदलें ताकि किसी गलत व्यक्ति इसको न पा सके और दोबारा इस तरह की गलती न दोहराई जा सके।

इसे भी पढ़ें-बिहार में PM मोदी, सोनिया गांधी और प्रियंका चोपड़ा को लगाया कोरोना टीका ! हेल्थ विभाग के कांड से हर कोई हैरान

इसे भी पढ़ें-Muzaffarpur Eye Hospital के खिलाफ केस दर्ज, कार्रवाई के लिए पुलिस को भेजी गई जांच रिपोर्ट

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios