सुपौल (Bihar) । बिहार के सुपौल में जमीनी विवाद को लेकर पति-पत्नी को जिंदा जलाकर मारने का मामला सामने आया है। मृतक के बेटी का कहना है कि उसके चाचा ने ही जमीन की लालच में उसके माता-पिता को घर में सोते समय जिंदा जला दिया, जिससे उनकी मौत हो गई। यह घटना सदर थाना के चकला निर्मली की है।  

जांच में ये बातें आई सामने
पुलिस ने दोनों आरोपी राम लखन मुखिया और उसकी पत्नी को गिरफ्तार कर लिया है। चर्चा है कि जांच में ये बात सामने आई है कि राम चंद्र मुखिया ड्राइवर का काम करता था, जो हाल ही में पेरेलाइसिस का शिकार हो गया था। उसके छोटे-छोटे बच्चे भी उसके साथ नहीं रहते थे। कुछ साल पहले उसने अपने छोटे भाई के साथ मिलकर चकला निर्मली में जमीन खरीद रखा था, जिसे लेकर उसके छोटे भाई की ओर से जमीन लिखने का दवाब बनाया जाता था। लेकिन, मृतक दो बेटियों के कारण ऐसा करने से मना करता था।

राख होने से 10 प्रतिशत ही बचे थे शव
मृतक राम चंद्र मुखिया की बेटी रानी का कहना है कि उसके चाचा राम लखन मुखिया द्वारा जमीन को लेकर विवाद किया जाता था। कई बार यह धमकी भी दी जाती थी कि जिंदा जलाकर मार दिया जाएगा। इसी कड़ी में मंगलवार की देर रात उसके चाचा-चाची ने मिलकर घटना को अंजाम दिया। 10 प्रतिशत शव ही जलने से बचा था।

बेटी ने सुनाई ये कहानी
मृतक राम चंद्र मुखिया की बेटी रानी ने बताया कि उसके चाचा ने ही उसके माता-पिता को घर में बंद कर जिंदा जला दिया। वो कहती है कि चाचा के डर से ही मैं बगल के पड़ोसी के यहां रहा करती थी। वहीं, मेरी छोटी बहन भी अपनी मौसी के यहां रहती है। चाचा ने मां-पापा को अकेला पाकर इस घटना को अंजाम दिया है।