Asianet News Hindi

आम के साथ भेजे जा रहे थे पिस्टल और कारतूस, ऐसे खुल गया राज

पुलिस के मुताबिक जितेंद्र उर्फ जीतू पर मुगेर के मुफसिल थाना में दो मामले दर्ज हैं। फिलहाल आरोपियों से पूछताछ कर तस्करी मे शामिल सभी सदस्यों की गिरफ्तारी की जाएगी। एसपी ने बताया कि दोनों कट्टा और कारतूस किसके लिए ले जाए जा रहे थे इसकी पूछताछ की जा रही है। साथ ही सूर्यगढा थानाध्यक्ष चंदन कुमार को इस कार्रवाई के लिए पुरस्कृत किया जाएगा। 

Pistols and cartridges were being sent with mangoes, this is how the secret was revealed asa
Author
Lakhisarai, First Published Jun 28, 2020, 3:18 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखीसराय (Bihar) ।पुलिस ने असलहा तस्करी करने जा रहे दो लोगों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से आम की बोरी बरामद की है, जिसमें ये आम के बीच सात देशी पिस्तौल और 20 कारतूस रखें हुए थे। पुलिस के मुताबिक दोनों को जब चेकिंग के लिए पकड़ा गया तो उन्होंने बोरे में आम होने की बात कही, लेकिन जांच की गई तो आम के साथ असलहे बरामद हुए।  गिरफ्तार दोनों हथियार तस्कर मुंगेर जिला के चरौन गांव के रहने वाले हैं। फिलहाल पुलिस गिरफ्तार किए गए दोनों हथियार तस्करों से पूछताछ मे जुटी है।

यह है पूरा मामला
एसपी सुशील कुमार के मुताबिक सूचना मिली कि दो हथियार तस्कर पल्सर गाड़ी से आम की बोरी में देशी पिस्तौल, जिंदा कारतूस छिपाकर तस्करी करने लखीसराय की ओर आ रहे हैं। इसपर पुलिस ने सूर्यगढा बाजार स्थित शहीद द्वार के समीप घेराबंदी कर दोनों को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार दोनों तस्करों की पहचान मुगेर जिला के चरौन निवासी अनिल चौधरी एवं जितेंद्र उर्फ जीतू के रूप मे की गई है।

एसपी ने कही ये बातें
पुलिस के मुताबिक जितेंद्र उर्फ जीतू पर मुगेर के मुफसिल थाना में दो मामले दर्ज हैं। फिलहाल आरोपियों से पूछताछ कर तस्करी मे शामिल सभी सदस्यों की गिरफ्तारी की जाएगी।
एसपी ने बताया कि दोनों कट्टा और कारतूस किसके लिए ले जाए जा रहे थे इसकी पूछताछ की जा रही है। साथ ही सूर्यगढा थानाध्यक्ष चंदन कुमार को इस कार्रवाई के लिए पुरस्कृत किया जाएगा। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios