पटना (Bihar) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना काल के दौरान बीते मंगलवार को छठी बार देश की जनता को संबोधित किया था। इसके बाद पीएम ने अब कई भारतीय भाषाओं में ट्वीट किया है। ट्टीट पर जहां बिहार के सीएम नीतिश कुमार ने आभार व्यक्त किया वहीं, लालू प्रसाद यादव की पत्नी रावड़ी देवी और बेटे तेज प्रताप ने तंज कसा है।

पीएम ने किया ये ट्टीट
ट्वीट की खास बात ये रही कि पीएम मोदी ने अपने ट्वटिर हैंडल से मैथिली और भोजपुरी भाषा में भी ट्वीट किया है। उन्होंने भोजपुरी भाषा में ट्वीट करते हुए लिखा, 'ई गरीबजन के सम्मान सुनिश्चित करे वाला बा। प्रधानमन्त्री गरीब कल्याण अन्न योजना के आगे बढ़ावला से देश भर के करोडों लोगन के फैदा होई।' वहीं, मैथिली में पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा कि गरीब सबहक गरिमा सुनिश्चित करहब। पीएम गरीब कल्याण अन्न योजनाक विस्तार सम्पूर्ण भारतक करोड़ों गरीब लोक के लेल होयत।

नीतीश कुमार ने जताया 
पीएम के संबोधन के बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ट्वीट कर पीएम मोदी का आभार व्यक्त किया है। सीएम ने अपने ट्वीट में लिखा है कि माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार करते हुए गरीबों को 5 माह का अतिरिक्त मुफ्त राशन देने की घोषणा के लिए मैं उनको धन्यवाद देता हूं और आभार व्यक्त करता हूं।

राजद ने कसा तंज
लालू के बेटे तेज प्रताप ने पीएम के इस ट्टीट पर तंज कसा है, जबकि राजद नेता मनोज झा ने कहा है कि देश में आज की तारीख में जो हालात हैं, और सरहद से लेकर लोगों की आम जिंदगी में जो हो रहा है। इसे लेकर बड़ी उम्मीद से हमलोगों ने भी पीएम का संबोधन सुना। कई चीजें ठीक भी थी, मैं समझता हूं कि उन्होंने जो कहा वो प्रेस रिलीज से भी कह देते तो बड़ी बात नहीं थी, यही बेहतर भी होता।


राबड़ी ने कहा-गरीब लोग के राउर भाषण ना राशन चाहीं
पीएम नरेंद्री मोदी के भोजपुरी में किए गए ट्वीट पर पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने उसी अंदाज में जवाब दिया है। राबड़ी ने ट्वीट कर लिखा कि आदरणीय प्रधानमंत्री जी। जून महीना में बिहार में मात्र 35.3% वितरण भईल बा। अब रऊआ ई बताईं ऐसे गरीब के दू जून के रोटी मीली? गरीब लोग के राउर भाषण ना राशन चाहीं। (आदरणीय प्रधानमंत्री जी। जून महीने में बिहार में मात्र 35.3 प्रतिशत राशन बांटा गया है। अब ये बताइये कि क्या ऐसे गरीब को दो जून की रोटी मिलेगी? गरीब लोगों को आपका भाषण नहीं राशन चाहिए)