Asianet News HindiAsianet News Hindi

RJD के सवाल पर सुशील मोदी का जबाव, 1 साल में एक लाख से उपर किसानों को दिया गया क्रेडिट कार्ड

बिहार विधानसभा में राजद विधायक मोहम्मद नवाज आलम द्वारा लाए गए ध्यानाकर्षण सूचना पर सरकार की ओर से जवाब देते हुए सुशील ने बुधवार को कहा कि वित्तीय वर्ष 2019-20 में दिसम्बर, 2019 तक 1,20,372 नए तथा 44,36,400 नवीकृत सहित कुल 15,56,772 केसीसी का वितरण बैंकों द्वारा किया गया है। 

Sushil Modi's response to RJD question, credit card given to farmers above one lakh in 1 year KPM
Author
Patna, First Published Mar 4, 2020, 9:18 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना. बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बुधवार को बताया कि वित्तीय वर्ष 2019-20 में अप्रैल से दिसम्बर के बीच 1,20,372 नए तथा 44,36,400 नवीकृत सहित कुल 15,56,772 किसान क्रेडिट कार्ड :केसीसी: का वितरण बैंकों द्वारा किया गया है।

राजद नेता के सवाल पर सुशील मोदी ने ये जानकारी दी

बिहार विधानसभा में राजद विधायक मोहम्मद नवाज आलम द्वारा लाए गए ध्यानाकर्षण सूचना पर सरकार की ओर से जवाब देते हुए सुशील ने बुधवार को कहा कि वित्तीय वर्ष 2019-20 में दिसम्बर, 2019 तक 1,20,372 नए तथा 44,36,400 नवीकृत सहित कुल 15,56,772 केसीसी का वितरण बैंकों द्वारा किया गया है। उन्होंने कहा कि किसान क्रेडिट कार्ड निर्गत करने के लिए फसल बीमा की अनिवार्यता पर जोर दिये जाने के कारण विगत कुछ वर्षों में नए कार्ड कुछ कम जारी हुए थे। सुशील ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा इस मुद्दे को केंद्र के समक्ष उठाया गया था। अब केसीसीसी. ऋण के लिए फसल बीमा की अनिवार्यता को भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा समाप्त कर दिया गया है।

सरकार ने कृषि क्षेत्र में लगभग 29 हजार करोड़ रूपए ऋण वितरित किए

सुशील ने कहा कि किसानों को क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ दिलाने के उद्देश्य से, कृषि विभाग द्वारा गत 12 फरवरी से 27 फरवरी तक 15 दिनों के लिए विशेष अभियान चलाया गया । सुशील ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2019-20 में 31 दिसम्बर, 2019 तक वार्षिक साख योजना के अंतर्गत बैंकों द्वारा कृषि क्षेत्र में 28764 करोड़ रूपये ऋण वितरित किये गये है जो कि निर्धारित लक्ष्य 60,000 करोड़ रूपये का 47.17 प्रतिशत है। पिछले वित्तीय वर्ष 2018-19 में वार्षिक साख योजना के अंतर्गत बैंकों द्वारा कृषि क्षेत्र में 43621 करोड़ रूपये ऋण वितरित किये गये थे जो कि निर्धारित लक्ष्य 60,000 करोड़ रूपये का 72.70 प्रतिशत था।

(ये खबर न्यूज एजेंसी पीटीआई/भाषा की है। एशियानेट हिन्दी न्यूज ने सिर्फ हेडिंग में बदलाव किया है।)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios