मुंगेर। लंबे समय तक कोरोना के मामले में बिहार का सबसे बड़ा हॉटस्पॉट रहा मुंगेर एक बार फिर इस महामारी की चपेट में घिरता दिख रहा है। जिले के डीएम राजेश मीणा के दो बॉडीगार्ड के साथ-साथ एक और सरकारी कर्मचारी की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिसके बाद जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया है। 

चिंता की बात यह है कि पॉजिटिव मिले तीनों कर्मियों में संक्रमण कहां से फैला, इसकी कोई जानकारी अभी तक नहीं मिली है। ऐसे में इन तीनों के संपर्क में आए अन्य लोगों में भी कोरोना फैलने की आशंका है। इन तीन मामलों के साथ-साथ शनिवार को जिले में कोरोना के 8 नए मामले सामने आए। जिसमें से पांच तो प्रवासी हैं, लेकिन तीन स्थानीय। 

संपर्क में आए लोगों की हो रही जांच
जिले में अभी तक कोरोना के कुल 158 मरीज मिल चुके हैं। जिसमें में इलाज के बाद 128 लोग अपने घर जा चुके हैं। इस समय मुंगेर में एक्टिव मरीजों की संख्या 29 है। डीएम के बॉडीगार्ड के कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी स्वयं डीएम राजेश मीणा ने दी। पॉजिटिव मिले तीनों मरीजों को इलाज के लिए आइसोलेशन में भेज दिया गया है। उनके संपर्क में आए अन्य लोगों के साथ-साथ परिवार के सदस्यों का सैंपल लिया जा रहा है। जानकारी के अनुसार जिला प्रशासन के अन्य कर्मियों का सैंपल भी जांच के लिए भेजा गया है, जिसकी रिपोर्ट आज रात तक आने की संभावना जताई जा रही है। 

बिहार में मुंगेर से ही शुरू हुआ था कोरोना
बिहार में कोरोना का पहला मामला भी मुंगेर में ही मिला था। उसके बाद जिले के जमालपुर में एक जमाती से दर्जनों लोगों में संक्रमण फैला था। इन दो संक्रमण चेन के अलावा जिले में प्रवासियों के आने के बाद कोरोना की स्पीड बढ़ी थी। मुंगेर में अभी तक 63 प्रवासी संक्रमित हो चके हैं। जिसमें से 34 इलाज के बाद डिस्चार्ज कर दिए गए हैं। हालांकि अब जिला प्रशासन में मिले कोरोना के तीन नए मामलों के बाद जिले में कोरोना संक्रमण की रफ्तार तेज होने की आशंका जताई जा रही है।