Asianet News Hindi

बिहार की साइकिल गर्ल ज्योति पर फिल्म बनने की चर्चा से पिता उत्साहित, बोले- मेरी बेटी श्रवण कुमार

बीमार पिता को साइकिल के जरिए गुरुग्राम से दरभंगा लाने वाली बिहार की 15 वर्षीय ज्योति कुमारी पर फिल्म बनने की चर्चा है। जाने-माने डायरेक्टर ने ज्योति के पिता से बात कर फिल्म बनाने का अनुबंध हासिल किया है। 

vinod kapri will made film on bihar cycle girl jyoti kumari pra
Author
Darbhanga, First Published May 28, 2020, 2:14 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

दरभंगा। बिहार की साइकिल गर्ल के रूप में देश-दुनिया में मशहूर हो चुकी बिहार के दरभंगा की 15 वर्षीय ज्योति कुमारी पर जल्द ही फिल्म बनेगी। ज्योति के संघर्ष को फिल्मी पर्दे पर उतारने का अनुबंध बॉलीवुड के जाने-माने डायरेक्टर विनोद कापड़ी ने हासिल किया है। पीहू और मिस टनकपुर हाजिर हो जैसी फिल्में बना चुके विनोद कापड़ी ने कहा कि फिलहाल मैं पैदल और साइकिल से जाने वाले मजदूरों पर शॉर्ट फिल्में बना रहा हूं, लेकिन ज्योति पर मैं एक पूरी फिल्म बनाने की तैयारी में हूं। इसके लिए मैंने उनके पिता से अनुबंध भी कर लिया है।

ज्योति लड़कियों के लिए प्रेरणा  
कापड़ी ने कहा कि ज्योति लाखों लड़कियों के लिए प्रेरणा हैं और ऐसे में उन पर फिल्म बनाया जाना जरूरी है। वह ज्योति और उनके पिता की कहानी को अलग तरह से पेश करना चाहेंगे, क्योंकि इसमें पिता और पुत्री का संघर्ष है। उल्लेखनीय हो कि लॉकडाउन के बीच ज्योति अपने बीमार पिता गुड़गांव से साइकिल पर बिठाकर दरभंगा तक लाई थी। उनके संघर्ष को आज पूरी दुनिया सलाम कर रही है। खुद पर फिल्म बनाए जाने की बात से ज्योति खुश है। उनके पिता भी बेटी को मिली प्रसिद्धि से काफी खुश है। 

6 दिन में तय किया दरभंगा तक का सफर
बताते चलें कि ज्योति दरभंगा के सिरहुल्ली गांव की रहने वाली है। वो अपने पिता के साथ गुड़गांव में रहा करती थी। जहां उनके पिता मोहन पासवान ई-रिक्शा चलाने का काम किया करते थे। हालांकि लॉकडाउन के बीच ही ज्योति के पिता का एक्सीडेंट हो गया था। इस बीच आर्थिक परेशानियों से जूझ रही ज्योति ने एक पुरानी साइकिल खरीद कर अपने पिता को लेकर गुड़गांव से दरभंगा तक का सफर मात्र छह दिनों में तय किया था। ज्योति की खबर को राष्ट्रपति ट्रम्प की बेटी इवांका ट्रम्प ने भी ट्वीट किया। 

एक कमरे में रहता है पूरा परिवार
ज्योति के पिता मोहन पासवान अपनी बेटी को श्रवण कुमार कहते हैं। ज्योति के परिवार में मम्मी-पापा के अलावा 5 भाई-बहनें हैं। बड़ी बहन पिंकी की शादी हो चुकी है। पूरा परिवार एक कमरे के इंदिरा आवास रहता है। क्वारेंटाइन अवधि पूरा करने के बाद ज्योति अपने घर आ चुकी है। जहां मीडिया, नेता सहित सामाजिक कार्यकर्ताओं का हुजूम जुट रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्वनी चौबे ज्योति को स्वास्थ्य मंत्रालय का ब्रांड एंबेसडर बनाने की बात कह चुके हैं। लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान पढ़ाई व पूर्व सीएम राबड़ी देवी उसकी शादी का खर्च उठाने का ऐलान कर चुकी हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios