Asianet News Hindi

क्या चोट लगने की वजह नानावती अस्पताल में भर्ती है 78 साल के अमिताभ बच्चन? बेटे अभिषेक ने कही ये बात

अमिताभ बच्चन करीब दो महीने पहले कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे, जिसके बाद उनका इलाज मुंबई के नानावती अस्पताल में हुआ था। कोरोना को मात देने के बाद वे इस वक्त रियलिटी शो कौन बनेगा करोड़पति की शूटिंग में व्यस्त हैं। इसी बीच मीडिया रिपोर्ट्स और सोशल मीडिया पर यह बताया गया कि उन्हें शनिवार को मुंबई के नानावती अस्पताल में दोबारा भर्ती कराया गया था। हालांकि, ऐसा कुछ नहीं है। डीएनए में प्रकाशित खबर के अनुसार अमिताभ अस्पताल में भर्ती नहीं हैं और वह मुंबई में अपने घर पर हैं। 

amitabh bachchan admitted to nanavati hospital know here is the truth read detail KPJ
Author
Mumbai, First Published Oct 27, 2020, 10:25 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. मेगास्टार अमिताभ बच्चन (amitabh bachchan) करीब दो महीने पहले कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे, जिसके बाद उनका इलाज मुंबई के नानावती अस्पताल में हुआ था। कोरोना को मात देने के बाद वे इस वक्त रियलिटी शो कौन बनेगा करोड़पति की शूटिंग में व्यस्त हैं। इसी बीच मीडिया रिपोर्ट्स और सोशल मीडिया पर यह बताया गया कि उन्हें शनिवार को मुंबई के नानावती अस्पताल में दोबारा भर्ती कराया गया था। हालांकि, ऐसा कुछ नहीं है। डीएनए में प्रकाशित खबर के अनुसार अमिताभ अस्पताल में भर्ती नहीं हैं और वह मुंबई में अपने घर पर हैं। मीडिया में ऐसी खबरें थी कि 78 साल के अमिताभ को चोट के कारण भर्ती कराया गया था और शनिवार से उनका इलाज चल रहा है जो कि सच नहीं है।

अमिताभ बच्‍चन: अमिताभ की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव, अस्‍पताल से डिस्‍चार्ज |  ET Hindi
पिता अमिताभ के अस्पताल में भर्ती होने वाली बात पर स्पॉटब्वॉय ने उनके बेटे अभिषेक बच्चन (abhishek bachchan) से इस बारे में सवाल किया तो उन्होंने साफ तौर पर मना कर दिया। उन्होंने कहा- डैड मेरे सामने बैठे है और वो एकदम ठीक है। वो कोई डुप्लीकेट होगा वो अस्पताल में भर्ती है। 

amitabh bachchan - Yuva Haryana
इसी बीच खबर आई थी कि अमिताभ के पिता और महान कवि डॉ. हरिवंशराय बच्चन के नाम पर पोलैंड के व्रोकला शहर में एक चौराहे का नाम रखा जाएगा। इस बात की जानकारी खुद अमिताभ ने सोशल मीडिया पर दी है। अपने बाबूजी को मिले इस सम्मान से वे बेहद भावुक हुए और उन्होंने इमोशनल होकर इंस्टाग्राम और ट्विटर पर लिखा है- प्रबिसि नगर कीजे सब काजा। हृदयं राखि कोसलपुर राजा। रामचरितमानस, सुंदर कांड. भावार्थ, अयोध्यापुरी के राजा श्री रघुनाथजी को हृदय में रखे हुए नगर में प्रवेश करके सब काम कीजिए। व्रोकला, पोलैंड के सिटी काउंसिल ने एक चौराहे का नाम मेरे पिता के नाम रखने का फैसला लिया है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios