Asianet News Hindi

अमिताभ बच्चन कोरोना के खिलाफ जंग में आए आगे, गरीबों में बांट रहे खाना, बताया मुश्किल टास्क

सदी के महानायक कहे जाने वाले एक्टर अमिताभ बच्चन ने गुरुवार को अपने ब्लॉग के माध्यम से बताया कि उन्होंने 2000 खाने के पैकेट्स बांटने शुरू कर दिए हैं। बिग बी मुंबई की कई जगहों पर गरीबों में लंच और डीनर बांटेंगे। कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में एक्टर ने गरीबों की मदद के लिए ये फैसला लिया है।

Amitabh bachchan starts Distribute 0f 2000 food Packets in poor Person during Lockdown Corona Virus it is tough task KPY
Author
Mumbai, First Published Apr 10, 2020, 8:06 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. सदी के महानायक कहे जाने वाले एक्टर अमिताभ बच्चन ने गुरुवार को अपने ब्लॉग के माध्यम से बताया कि उन्होंने 2000 खाने के पैकेट्स बांटने शुरू कर दिए हैं। बिग बी मुंबई की कई जगहों पर गरीबों में लंच और डीनर बांटेंगे। कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में एक्टर ने गरीबों की मदद के लिए ये फैसला लिया है। 77 साल के अमिताभ बच्चन इन पैकेट्स के अलावा महीनेभर की जरूरत के सामान के 3000 बैग्स भी लोगों तक पहुंचाएंगे। 

अमिताभ ने ब्लॉग में लिखी ये बात 

अपने ब्लॉग में बच्चन ने लिखा, 'निजी रूप से 2000 खाने के पैकेट्स लंच और डिनर के लिए शहर की अलग-अलग लोकेशनों पर हर रोज बांटे जा रहे हैं। इसके साथ ही लगभग 3000 बड़े बैग्स को पहुंचाने का सिलसिला भी चल रहा है। इससे लगभग 12000 लोगों का पेट भरेगा।'

इन जगहों पर बांटे जा रहे पैकेट्स 

अमिताभ आगे लिखते हैं कि लोकेशन जैसे हाजी अली दरगाह, माहिम दरगाह, बाबुलनाथ मंदिर, बांद्रा के स्लम और उत्तरी मुंबई के कुछ और स्लमों में रहने वाले लोगों की मदद वो कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि इन सभी तक सामान को पहुंचाना बहुत ही मेहनत का काम था और साथ ही उम्मीद जताई कि सबकुछ जल्द ठीक हो जाएगा। बिग बी लिखते हैं कि इस प्रक्रिया की अपनी दिक्कतें हैं। लॉकडाउन की वजह से घरों से निकलना गैर-कानूनी माना जा रहा है तो भले ही उन्होंने खाने के बैग्स तैयार कर लिए हैं, लेकिन उन्हें एक जगह से दूसरी जगह इसे पहुंचाने में दिक्कत हो रही है।

अमिताभ कहते हैं, 'अधिकारियों का कहना है कि पैकेट्स जब लोगों तक पहुंचते हैं, तो स्लम में रहने वाले लोग गाड़ी की ओर दौड़ते हैं। इससे भगदड़ मचने का खतरा है जो कि पुलिस सोशल डिस्टेंसिंग के माहौल में नहीं होने दे सकती।'

ऐसी आ रहीं दिक्कतें

अमिताभ कहते हैं कि उन्होंने खुद इस बात पर जोर दिया है कि जहां भी खाने को लोगों में बांटा जा रहा है, वहां लोग सही से लाइन बनाएं। इससे सोशल डिस्टेंसिंग को फॉलो किया जा सकेगा। एक्टर लिखते हैं, 'भगवान का शुक्र है कि वालंटियर्स मुश्किल समय में भी कड़ी मेहनत कर रहे हैं। वो ध्यान रख रहे हैं कि सबकुछ ठीक से हो। ये काफी मुश्किल टास्क है, लेकिन क्या कर सकते हैं। लाइनें दिन-ब-दिन लंबी होती जा रही हैं।' बता दें, अमिताभ बच्चन ने हर महीने एक लाख दिहाड़ी मजदूरों को सपोर्ट करने की कसम खाई है। ये दिहाड़ी मजदूर All India Film Employees Confederation से हैं। कोरोना वायरस की मार इन सभी पर पड़ी है।

अमिताभ ने बताया कि प्रक्रिया के शुरू होने के बाद वे अपनी नजर उसपर बनाए हुए हैं उन्होंने बताया कि उम्मीद है कि कुछ दिनों में उन्हें बांटे हुए सामना का डाटा मिल जाएगा। अगर हर परिवार में चार लोग हैं ऐसा माना जाए तो इस सामान से 4 लाख लोगों का पेट भरा जा रहा है।'

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios