Asianet News HindiAsianet News Hindi

बिना कपड़ों के सीमा बिस्वास के साथ सीन शूट करना नहीं था आसान, इस तरह की थी गोविंद नामदेव ने तैयारी

बॉलीवुड एक्टर गोविंद नामदेव ने अपने करियर में कई नेगेटिव रोल किए पर वे 'बैंडिट क्वीन' के ठाकुर श्रीराम के किरदार को अपनी लाइफ का सबसे मुश्किल किरदार मानते हैं। इस किरदार के लिए उनकी मदद कॉस्ट्यूम डिजाइनर डॉली अहलूवालिया ने कैसे की। जानिए इस खबर में...

Govind Namdev shares how he prepare for his character and rape scene in Bandit Queen AKA
Author
First Published Sep 3, 2022, 10:13 PM IST

एंटरटेनमेंट डेस्क. साल 1994 में रिलीज हुई शेखर कपूर की फिल्म 'बैंडिट क्वीन' अपने कंटेंट और दृश्यों के चलते बहुत विवादों में रही थी। फिल्म में एक्ट्रेस सीमा बिस्वास ने डकैत फूलन देवी का किरदार निभाया था। वहीं गोविंद नामदेव ने इसमें ठाकुर श्री राम का किरदार निभाया था जिसने फूलन देवी का बलात्कार किया था और साथ ही उन्हें बिना कपड़ों के पूरा गांव में घुमाया था। हाल ही में एशियानेट को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में गोविंद नामदेव ने इस सीन को शूट करने के पीछे की कहानी बताई। सुनिए यह कहानी खुद एक्टर की जुबानी...

कभी नहीं निभाया था इतना क्रूर किरदार
'एक कलाकार के जीवन में कई ऐसे किरदार आते हैं जिन्हें निभाने में काफी दिक्कत होती थी। चूंकि मैं एनएसडी से पासआउट था और मैंने वहां अधिकतम हास्य नाटक ही किए थे। ऐसे में जब मुझे फिल्म 'बैंडिट क्ववीन' में ठाकुर श्रीराम का किरदार निभाने का ऑफर आया तो मैंने हां तो कर दी पर पूरे वक्त यह सोचता रहा कि इस किरदार की क्रूरता को मैं अपने अंदर लाऊंगा कैसे? क्योंकि हमने कभी अपनी लाइफ में इतने क्रूर शख्स से मुलाकात नहीं की थी और न ही रियल लाइफ में ऐसा कोई एक्सपीरियंस रहा था जिससे इस किरदार को निभाने में मदद मिले।'
 
हर हफ्ते फूलन को देने जाते थे ब्रीफ
'खैर, फिल्म की शूटिंग शुरू हुई और सेट का शूटिंग का एक नियम यह था कि दो दिन की शूटिंग करने के बाद हमने जो शूट किया है वो हमें फूलन देवी को बताने के लिए ग्वालियर जाना पड़ता था। चूंकि, फिल्म उनके जीवन की कहानी पर बेस्ड थी। ऐसे में उन्होंने मेकर्स के सामने यह शर्त रखी थी कि जो भी शूट होगा उनको बताया जाएगा। चूंकि देवी उस समय जेल में बंद थीं इसलिए सेट से एक असिस्टेंट डायरेक्टर हर दो दिन में जाकर उन्हें फिल्म की ब्रीफ देकर आता था।'

डॉली ने की फूलन से मिलने की रिक्वेस्ट
'हमारे साथ फिल्म के सेट पर एक्ट्रेस और कॉस्ट्यूम डिज़ाइनर डॉली अहलूवालिया भी काम कर रही थीं। उन्होंने एक दिन डायरेक्टर शेखर कपूर से पूछा कि क्या वो भी फूलन से मिलने जा सकती है। उनसे बात करके उन्हें फिल्म की कॉस्ट्यूम डिजाइनिंग में मदद मिलेगी। शेखर ने उन्हें अनुमति दी और वो असिस्टेंट डायरेक्टर के साथ फूलन से मिलने पहुंची।'

फूट-फूटकर रोने लगीं डॉली 
'वे वहां पहुंचीं और फूलन से बात की और उनसे रिक्वेस्ट की कि फूलन उन्हें वो सारी बातें और घटनाएं बताएं जो उनके साथ घटी थीं। फूलन ने जब डॉली को बताया कि वे कैसे-कैसे शोषण से गुजरीं तो वो कहानी इतनी हृदय विदारक थी कि उसे सुनकर डॉली फूट-फूटकर रोने लगीं। इसके बाद फूलन ने उन्हें डांटते हुए कहा कि आपको रोना नहीं है बल्कि मेरी कहानी को लोगों तक पहुंचाना है।'

फूलन के सीने पर गड्डे बन चुके थे।
'इसके बाद फूलन ने डॉली को अपने सीने पर बने घाव दिखाए। उनके सीने पर गड्डे बन चुके थे और ये गड्डे तब हुए थे जब ठाकुरों ने उनको रेप करते हुए नोंचा था। मतलब उनका रेप इतनी बेदर्दी से किया गया था कि उनके शरीर का मांस तक निकल चुका था। ये सब देखकर डॉली शॉक्ड रह गईं।'

इस सीन की शूटिंग के दौरान फैल गई थी सनसनी
'इसके बाद जब डॉली सेट पर वापस आईं और उन्होंने मुझे ये पूरा किस्सा बताया तब जाकर मुझे इस किरदार को निभाने का क्लू मिला। मैंने फिर यही सोचा कि मुझे एक ऐसे इंसान का किरदार निभाना है जिसने इतनी बीभत्सता को अंजाम दिया है। तब जाकर कहीं मैं उस किरदार की स्किन में उतर पाया और हमने फिल्म के सभी सीन को अंजाम दिया। इन्हीं में से एक सीन वो भी जिसमें मुझे सीमा बिस्वास को नग्न अवस्था में पूरे गांव में घुमाना था। जब हम इस सीन की शूटिंग कर रहे थे तो पूरे गांव में सनसनी फैल गई थी।'

और पढ़ें...

एयरपोर्ट पर स्पॉट हुए हैदराबाद से लौटे रणबीर-आलिया, एक्ट्रेस का बेबी बंप देखकर फैंस बोले, 'सो क्यूट'

कैंसिल कल्चर पर गोविंद नामदेव बोले- 'फिल्ममेकर्स धार्मिक भावनाएं आहत करते हैं, फिर बॉयकॉट का रोना रोते हैं'

कृति सेनन ख़ुशी से फैन के साथ खिंचवा रही थीं PHOTO, फिर ऐसा क्या हुआ कि बोलना पड़ा- अभी हो गया ना

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios