Asianet News Hindi

नीरजा भनोट के भाई का हार्ट अटैक से निधन, सोनम कपूर ने फोटो शेयर करते हुए जताया दुख

सोनम कपूर (Sonam Kapoor) ने 2016 में नीरजा भनोट (Neerja Bhanot) की बायोपिक में काम किया था। अब खबर है कि नीरजा भनोट के भाई अनीश भनोट का हार्ट अटैक के चलते चंडीगढ़ में निधन हो गया है। नीरजा के भाई के निधन की खबर सुनते ही सोनम कपूर ने एक पोस्ट शेयर करते हुए अनीश को श्रद्धांजलि दी है। 

Neerja Bhanot Brother Aneesh Passes Away and Sonam kapoor expressed grief kpg
Author
Mumbai, First Published Jun 13, 2021, 6:07 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई। सोनम कपूर (Sonam Kapoor) ने 2016 में नीरजा भनोट (Neerja Bhanot) की बायोपिक में काम किया था। अब खबर है कि नीरजा भनोट के भाई अनीश भनोट का हार्ट अटैक के चलते चंडीगढ़ में निधन हो गया है। नीरजा के भाई के निधन की खबर सुनते ही सोनम कपूर ने एक पोस्ट शेयर करते हुए अनीश को श्रद्धांजलि दी है। सोनम कपूर ने इंस्टाग्राम पर अनीश के साथ एक फोटो शेयर की है जिसमें वो उनके गले लगती दिख रही हैं। इस फोटो को शेयर करते हुए सोनम ने लिखा- ओम शांति...भगवान आपकी आत्मा को शांति दे अनीश भनोट। 
 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Sonam K Ahuja (@sonamkapoor)

सोनम की इस पोस्ट पर कई लोगों ने कमेंट कर दुख जताया है। एक यूजर ने कमेंट करते हुए लिखा- मैंने इनकी किताब पढ़ी है जो इन्होंने अपनी बहन के लिए लिखी थी। वो एक बेहतरीन राइटर भी थे। बता दें कि सोनम ने नीरजा भनोट की बायोपिक 'नीरजा' में काम किया था। राम माधवानी के डायरेक्शन में बनी इस फिल्म में सोनम के अलावा शबाना आजमी, शेखर रावजियानी, जिम सर्भ, अर्जुन अनेजा, निकिल संघा भी थे। दर्शकों ने फिल्म की कहानी और सोनम की एक्टिंग को बेहद पसंद किया था। इस फिल्म को नेशनल अवॉर्ड भी मिला था। 

कौन थीं नीरजा भनोट : 
नीरजा का जन्म 7 सितंबर 1963 को चंडीगढ़ के एक पंजाबी परिवार में हुआ था। उनके पिता हरीश भनोट पत्रकार और मां रमा भनोट गृहणी थीं। 5 सिंतबर 1986 को यानी नीरजा के 23वें जन्मदिन से केवल 2 दिन पहले को पैन एएम की फ्लाइट 73 में सीनियर पर्सर थीं, ये फ्लाइट मुंबई से अमेरिका जा रही थी लेकिन पाकिस्तान के कराची एयरपोर्ट पर इसे 4 हथियारबंद लोगों ने हाईजैक कर लिया। प्लेन को हाईजैक करने के 17 घंटे बीतने के बाद आतंकियों ने यात्रियों की हत्या करनी शुरू कर दी। नीरजा ने हिम्मत दिखाते हुए इमरजेंसी गेट खोल दिया और उन्होंने पैसेंजर्स को वहां से निकालना शुरू किया। जिस समय वो तीन बच्चों को विमान से बाहर सुरक्षित निकालने की कोशिश कर रही थीं उसी वक्त एक आतंकवादी ने उन पर बंदूक तान दी। मुकाबला करते हुए नीरजा वहीं शहीद हो गईं। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios