Asianet News HindiAsianet News Hindi

प्रकाश झा ने आमिर खान की 'लाल सिंह चड्ढा' को बताया बकवास, भड़कते हुए कहा- फ़िल्में बनाना बंद कर दो

16 सितम्बर को रिलीज होने जा रही 'मट्टो की साइकिल' के जरिए प्रकाश झा एक बार फिर पर्दे पर बतौर एक्टर दिखाई देंगे। इससे पहले उन्हें फिल्म 'सांड की आंख' में महत्वपूर्ण किरदार निभाते देखा गया था। 

Prakash Jha Reacts Over Aamir Khan's Laal Singh Chaddha Failure At Box Office GGA
Author
First Published Sep 3, 2022, 12:32 PM IST

एंटरटेनमेंट डेस्क. बॉलीवुड को 'गंगाजल', 'अपहरण', 'राजनीति' और 'सत्याग्रह' जैसी फ़िल्में और 'आश्रम' जैसी वेब सीरीज देने वाले प्रकाश झा (Prakkash Jha) ने आमिर खान (Aamir Khan) की फिल्म 'लाल सिंह चड्ढा' (Laal Singh Chaddha) के बॉक्स ऑफिसb(Box Office) पर धराशायी होने पर प्रतिक्रिया दी है। एक ओर जहां ज्यादातर लोग यह मान रहे हैं कि भारत में बढ़ते कैंसिल कल्चर के कारण 'लाल सिंह चड्ढा' जैसी फ़िल्में फ्लॉप हो रही हैं तो वहीं, प्रकाश झा बिल्कुल उलट राय रखते हैं। उन्होंने एक बातचीत में कहा कि अगर फिल्म अच्छी है तो वह जरूर चलेगी।

'उन्हें समझना चाहिए कि वे बकवास बना रहे हैं'

दरअसल, प्रकाश झा अपनी अपकमिंग फिल्म 'मट्टो की साइकिल' (Matto Ki Saikal) के प्रमोशन के सिलसिले में एक एंटरटेनमेंट न्यूज वेबसाइट से बात कर रहे थे। उनके मुताबिक़, 'लाल सिंह चड्ढा' जैसी फिल्म का फ्लॉप हो जाना फिल्म इंडस्ट्री की आंखें खोल देने वाली घटना है। बकौल झा, "उन्हें समझना चाहिए कि वे बकवास बना रहे हैं। एक फिल्म सिर्फ पैसे, कार्पोरेट और एक्टर्स को मोटी फीस देकर नहीं बनाई जा सकती। इसके लिए अच्छी कहानी लिखने की जरूरत है, जो आपकी समझ में आ सके और मंनोरंजन कर सके।"

Prakash Jha Reacts Over Aamir Khan's Laal Singh Chaddha Failure At Box Office GGA

''अगर कहानी नहीं हैं तो फिल्म बनाना बंद करो'

प्रकाश झा ने आगे कहा, "उन्हें ऐसी कहानियां लानी चाहिए जो जड़ों से जुड़ी हैं। हिंदी इंडस्ट्री के लोग हिंदी बोल रहे हैं, लेकिन वे बना क्या रहे हैं? वे लगातार रीमेक बना रहे हैं। अगर आपके पास कहने के लिए कहानी नहीं है तो आप फ़िल्में बनाना बंद कर दीजिए। उन्हें कड़ी मेहनत करनी चाहिए और ओरिजिनल कहानी सोचनी चाहिए। क्योंकि लोग सुस्त हो गए हैं।"

'यह नहीं कह सकते कि बायकॉट की वजह से फिल्म नहीं चली'

प्रकाश झा ने इस बातचीत में कहा कि .बायकॉट कल्चर हमेशा से था। बात सिर्फ इतनी है कि लोग सोशल मीडिया का इस्तेमाल कम्युनिकेशन के लिए ज्यादा कर रहे हैं।" प्रकाश झा ने इसके बाद 'लाल सिंह चड्ढा' की असफलता पर कहा, "अगर 'दंगल', 'लगान'  बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप होतीं तो हम समझ भी सकते थे कि यह बायकॉट के कारण हुआ। लेकिन आपने एक ऐसी फिल्म बनाई, जिसे पसंद नहीं किया गया। मुझे आज तक ऐसा कोई भी इंसान  नहीं मिला, जिसने यह कहा कि वाह क्या फिल्म थी।" झा ने आगे कहा, "मैं सहमत हूं कि आपने कड़ी मेहनत की, लेकिन कंटेंट में ऐसा कुछ भी फैक्टर नहीं हैं। आप यह नहीं कह सकते कि बायकॉट की वजह से फिल्म अच्छी नहीं चली।"

और पढ़ें...

आखिर क्यों सोहेल खान से अलग हुईं उनकी पत्नी, सीमा सजदेह का जवाब सुन मैच मेकर के भी छूट गए पसीने

संजय कपूर को छोड़कर चली गई थीं उनकी पत्नी, महीप ने खुद किया खुलासा

8 PHOTOS में देखे शिल्पा शेट्टी का गणपति विसर्जन, कहीं व्हील चेयर पर बैठे-बैठे नाचीं तो कहीं ढोल बजाती नजर आईं

मनीष पॉल की बेटी को देख फटी रह गईं लोगों की आंखें, VIRAL VIIDEO देख बोले- OMG!

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios