Asianet News HindiAsianet News Hindi

IMF के साथ डील में देरी से रिकॉर्ड लेवल पर टूटा पाकिस्तानी रुपया

स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान (State Bank of Pakistan ) के आंकड़ों के मुताबिक, रुपया शुक्रवार को 0.9 फीसदी कमजोर होकर 175.73 डॉलर प्रति डॉलर पर बंद हुआ है।

Pakistan rupee breaks at record level due to delay in deal with IMF SSA
Author
New Delhi, First Published Nov 13, 2021, 11:33 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। सरकार द्वारा अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (International Monetary Fund) से 6 बिलियन डॉलर के ऋण को पुनर्जीवित करने में देरी के बारे में निवेशकों की चिंता के कारण पाकिस्तान का रुपया (Pakistan Rupee) रिकॉर्ड निचले स्तर पर आ गया। जानकारी के अनुसार दक्षिण एशियाई राष्ट्र बिजली और ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी सहित कुछ शर्तों में छूट के साथ कार्यक्रम को फिर से शुरू करने के लिए वाशिंगटन स्थित लेंडर से बातचीत कर रहा है।

रिकॉर्ड लेवल पर टूटा
वित्त मंत्री शौकत तारिन ने पहले कहा था कि आईएमएफ सौदा 5 नवंबर को समाप्त सप्ताह में पूरा हो जाएगा। लेकिन अभी आईएमएफ की ओर से किस्त नहीं आई है। जिसका असर पाकिस्तानी रुपए पर साफ तौर पर देखने को मिल रहा है। स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान के आंकड़ों के मुताबिक, रुपया शुक्रवार को 0.9 फीसदी कमजोर होकर 175.73 डॉलर प्रति डॉलर पर बंद हुआ है।

सात दिन में पौने छह रुपए टूटा पाक रुपया
जानकारी के अनुसार इंट्रा-डे ट्रेडिंग के दौरान अंतर-बैंक बाजार में 1.81 रुपए की गिरावट के कारण पाकिस्तानी मुद्रा अमेरिकी डॉलर के मुकाबले अपने रिकॉर्ड निचले स्तर पर आ गई है, विनिमय दर घटकर 175.73 रुपए हो गई है। द न्यूज इंटरनेशनल ने बताया कि स्थानीय मुद्रा शुक्रवार को ग्रीनबैक के मुकाबले लगभग 1.54 रुपए की गिरावट के साथ 175.73 रुपए पर आ गई। कुल मिलाकर, पिछले सात दिनों के दौरान स्थानीय मुद्रा में लगभग 5.76 रुपए की गिरावट आई है।

यह भी पढ़ेंः- PayTm IPO : 350 कर्मचारी बन जाएंगे करोड़पति, जानिए कैसे

क्यों गिर रहा है रुपया
विश्लेषकों का मानना है कि आयात भुगतान में वृद्धि, वैश्विक कमोडिटी कीमतों में वृद्धि और आईएमएफ ऋण कार्यक्रम को फिर से शुरू करने के बारे में अनिश्चितता के बीच विदेशी मुद्रा की मांग आपूर्ति से अधिक रही। मुद्रा पिछली बार 26 अक्टूबर को अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले 175.26 रुपये के रिकॉर्ड निचले स्तर पर आ गई थी।

यह भी पढ़ेंः- एसबीआई ने कस्टमर्स को दिया झटका, समान की खरीदारी के बाद ईएमआई में कंवर्ट कराने पर लगेगी प्रोसेसिंग फीस

आसमान पर महंगाई
देश में बढ़ती महंगाई के बीच गिरावट का सिलसिला जारी है। पाकिस्तान में दैनिक जरूरतों की कीमतें एक नई ऊंचाई पर पहुंच गई हैं, जिसकी निंदा और विपक्ष द्वारा सरकार के खिलाफ बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हो रहा है। एआरवाई न्यूज के अनुसार, एसबीपी गवर्नर रेजा बाकिर ने रुपए में गिरावट का बचाव करते हुए कहा कि इससे विदेशी पाकिस्तानियों को फायदा हुआ है और देश में मुद्रास्फीति कृत्रिम थी और इसे नियंत्रित किया जाएगा, इसके बाद सोशल मीडिया पर काफी हलचल मचाई थी।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios