Upcoming IPO: दिसंबर के आखिर में आ रहा ये बड़ा आईपीओ, दे सकता है कमाई के अच्छे मौके

| Dec 04 2022, 09:14 PM IST

 Upcoming IPO: दिसंबर के आखिर में आ रहा ये बड़ा आईपीओ, दे सकता है कमाई के अच्छे मौके

सार

अगर आप भी शेयर मार्केट में सीधे पैसा निवेश करने से घबराते हैं, तो आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प हो सकता है। दिसंबर महीने के आखिर तक रियल एस्टेट की एक कंपनी अपना आईपीओ लाने वाली है। 

Signature Global India Limited IPO: अगर आप भी शेयर मार्केट में सीधे पैसा निवेश करने से घबराते हैं, तो आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प हो सकता है। दिसंबर महीने के आखिर तक रियल एस्टेट की एक कंपनी अपना आईपीओ लाने वाली है। इस रियल एस्टेट कंपनी क नाम सिग्नेचर ग्लोबल इंडिया लिमिटेड (Signature Global India Limited) है। इस आईपीओ में पैसा लगाकर आप अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।

कब तक आ सकता है IPO?
रिपोर्ट्स के मुताबिक, सिग्नेचर ग्लोबल इंडिया लिमिटेड (Signature Global India Limited) का आईपीओ इस महीने के आखिर तक आ सकता है। कंपनी का यह आईपीओ 1000 करोड़ रुपए का हो सकता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, आईपीओ के तहत कंपनी 750 करोड़ रुपए के नए शेयर जारी करेगी, जबकि 250 करोड़ रुपए के लिए ऑफर फॉर सेल (OFS) लाएगी। इस कंपनी को 24 नवंबर को भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (SEBI) से IPO की मंजूरी मिल चुकी है। बता दें कि कंपनी ने इसी साल जुलाई में सेबी के पास आईपीओ के लिए ऑफर डॉक्यूमेंट्स (DRHP) जमा कराए थे।  

Subscribe to get breaking news alerts

क्या करती है सिग्नेचर ग्लोबल इंडिया लिमिटेड?
सिग्नेचर ग्लोबल इंडिया लिमिटेड लोगों के लिए सस्ते मकान (Affordable Housing) बनाने का काम करती है। सिग्नेचर ग्लोबल ने 2014 में अपनी सबसिडरी कंपनी सिग्नेचर बिल्डर्स के जरिए काम शुरू किया था। कंपनी ने सबसे पहले गुरुग्राम में 6.13 एकड़ जमीन पर ‘सोलेरा’ प्रोजेक्ट शुरू किया था। कंपनी के मुताबिक, हमारा काम पिछले कुछ सालों में बहुत तेजी से बढ़ा है। 31 मार्च, 2022 तक हमने दिल्ली-एनसीआर में 23,453 रेसिडेंशियल और कमर्शियल यूनिट्स बेची हैं। 

2021-22 में बढ़ी कंपनी की इनकम : 
सिग्नेचर ग्लोबल की कुल आय 2021-22 में बढ़कर 939.6 करोड़ रुपए हो गई, जो पिछले वित्त वर्ष में 154.7 करोड़ रुपए थी। पिछले वित्त वर्ष में कुल खर्च बढ़कर 1,076 करोड़ रुपए हो गया, जो एक साल पहले 246.65 करोड़ रुपए था। सिग्नेचर ग्लोबल ने पिछले वित्त वर्ष के दौरान 115.5 करोड़ रुपए का शुद्ध घाटा दर्ज किया। कंपनी नए पब्लिक इश्यू से मिली रकम का इस्तेमाल लोन चुकाने और भूमि अधिग्रहण के लिए करेगी। 

ये भी देखें : 

फिक्स्ड डिपॉजिट पर ये बैंक दे रहा 9 प्रतिशत तक ब्याज, जानें अलग-अलग अवधि पर कितनी है ब्याज दरें