Asianet News Hindi

Bihar Board 10th Result: अगले महीने इस दिन जारी हो सकता है बिहार बोर्ड 10वीं का रिजल्ट, जानें लेटेस्ट अपडेट्स

बिहार बोर्ड के अनुसार इस बार 10वीं बोर्ड परीक्षा में 16 लाख 84 हजार 466 परीक्षार्थी शामिल हुए थे, जिसमें से 8 लाख 46 हजार 663 छात्र और 8 लाख 37 हजार 803 छात्राएं शामिल रहीं। 10वीं की परीक्षा का आयोजन 17 से 24 फरवरी 2021 तक किया गया था।

Bihar Board 10th Result will release on 5 april know details kpt
Author
New Delhi, First Published Mar 29, 2021, 7:05 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

करियर डेस्क. बीएसईबी बिहार बोर्ड (Bihar Board of School Education) की ओर से 10वीं परीक्षा 2021 के नतीजे जल्द ही जारी किए जाएंगे। 10वीं बोर्ड परीक्षा के नतीजे 5 अप्रैल 2021 तक जारी किए जा सकते हैं। स्टूडेंट्स बीएसईबी की अधिकारिक वेबसाइट  biharboardonline.bihar.gov.in  पर अपना रिजल्ट देख सकते हैं। 

16 लाख से अधिक विद्यार्थियों ने दी है परीक्षा

बिहार बोर्ड के अनुसार इस बार 10वीं बोर्ड परीक्षा में 16 लाख 84 हजार 466 परीक्षार्थी शामिल हुए थे, जिसमें से 8 लाख 46 हजार 663 छात्र और 8 लाख 37 हजार 803 छात्राएं शामिल रहीं। 10वीं की परीक्षा का आयोजन 17 से 24 फरवरी 2021 तक किया गया था।

12वीं बोर्ड परीक्षा 2021 का परिणाम जारी करते समय बीएसईबी अध्यक्ष ने कहा था कि बिहार बोर्ड 10वीं के नतीजे अप्रैल 2021 के पहले सप्ताह में जारी किए जाएंगे।

किस जिले से कितने स्टूडेंट्स हुए शामिल? 

विभिन्न मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस बार 10वीं की बोर्ड परीक्षा में सबसे ज्यादा गया, सारण, पूर्वी चंपारण और पटना जिले के विद्यार्थी शामिल हुए थे। गया से 83 हजार 371, सारण से 81 हजार 155, पूर्वी चंपारण से 78 हजार 216 और पटना से 73 हजार 30 विद्यार्थियों ने 10वीं की बोर्ड परीक्षाओं के लिए पंजीकरण कराया था।

1525 केंद्रों पर संपन्न हुई थी परीक्षा

इस बार 10वीं की बोर्ड परीक्षा प्रदेश के कुल 1525 केंद्रों पर संपन्न हुई थी। सबसे ज्यादा परीक्षा केंद्र पटना में बनाए गए थे। वहीं बोर्ड की ओर से परीक्षा के सफल संचालन के लिए कंट्रोल रूम भी बनाया गया था और नंबर भी जारी किए गए थे।

परीक्षा केंद्र के बाहर लागू थी धारा 144

सभी परीक्षा केंद्रों के 200 मीटर तक के दायरे में धारा 144 लागू की गई थी। 500 परीक्षार्थियों पर एक वीडियोग्राफर की भी तैनाती की गई थी। परीक्षा केंद्रों में परीक्षार्थियों को जूता-मोजा पहनकर जाने की अनुमति थी। कोरोना संक्रमण के कारण इस बार परीक्षा का आयोजन कोरोना गाइडलाइन के तहत किया गया था।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios