Asianet News HindiAsianet News Hindi

बिहार के छोटे खान सर: 8 साल की उम्र में चुटकियों में हल कर देता है गणित के कठिन सवाल

बिहार का बॉबी, एक आठ साल की उम्र का छोटा सा बच्चा, जो गणित के कठिन से कठिन सवाल को इस अंदाज से हल करता है कि देखने वाले हैरान रह जाते हैं। लोग उसे छोटे खान सर नाम से बुलाते हैं। आइए जानते हैं छोटे उस्ताद बॉबी के बारें में..

Bihar Patna eight year old abhinav raj bobby solves the toughest maths questions in a pinch stb
Author
First Published Sep 30, 2022, 11:18 AM IST

करियर डेस्क : बिहार (Bihar) के 'छोटे खान सर'..उम्र 8 साल लेकिन दिमाग कंप्यूटर से भी तेज. तीसरी कक्षा का छात्र जब 10वीं के गणित के कठिन से कठिन सवाल को चुटकियों में हल कर देता है तो लोग आश्चर्य से देखते रह जाते हैं। पटना (Patna) के मसौढ़ी के चपौर गांव का रहने वाला अभिनव राज को लोग 'मैथ्स गुरु' के नाम से जानते हैं। उसका नाम बॉबी है और दोस्त और गांव वाले भी इसी नाम से बुलाते हैं। बॉबी 10वीं तक के छात्रों को मैथ्य पढ़ाता है। बॉबी के पास गणित का ऐसा-ऐसा फॉर्मूला है, जिसे देख बड़े से बड़े लोग भई हैरान रह जाते हैं. पूरे क्षेत्र में बॉबी को लोग 'छोटे खान सर' नाम से बुलाते हैं।

माता-पिता चलाते हैं स्कूल
बॉबी के माता-पिता इसे कुदरत का करिश्मा मानते हैं। पिता राजकुमार महतो दिव्यांग हैं और एक शिक्षक। बॉबी के नाम से ही उनका एक स्कूल भी चलता है। इस स्कूल की स्थापना साल 2018 में की गई थी। पांच कमरों में चलने वाले इस स्कूल में 10वीं तक की पढ़ाई होती है। यहां गांव के बच्चे पढ़ने आते हैं. इस स्कूल की फीस बेहद कम है ताकि कोई भी बच्चा आसानी से आकर पढ़ सके। स्कूल में हॉस्टल की भी व्यवस्था की गई है।

'मैथ गुरु' बॉबी
आस पास के लोग बॉबी को मैथ्स गुरु के नाम से बुलाते हैं। कुछ लोग उसे छोटे खान सर भी कहते हैं। बॉबी को गणित का हर फॉर्मूला रटा हुआ है। दूसरे बच्चों को वह इतनी आसानी से सवाल को समझा देता है कि उन्हें उसका अंदाज पसंद आता है। बॉबी 10वीं तक के गणित के कठिन से कठिन सवाल को चुटकियों में हल कर देता है।

यूट्यूब ने बहुत कुछ सिखाया- मां
बॉबी की मां चंद्रप्रभा कुमारी ने मीडिया से बातचीत में बताया कि यूट्यूब ने उनके बेटे को काफी कुछ सिखाया है। वह यूट्यूब की मदद से ही पढ़ाई करता है। बॉबी बड़े होकर साइंटिस्ट बनना चाहता है। हालांकि परिवार की माली हालत इतनी अच्छी नहीं की बेटे को ज्यादा आगे तक पढ़ा सकें। लेकिन उन्हें सरकार से भी मदद की उम्मीद है। बता दें कि बिहार से पहले भी कई बच्चे अपनी प्रतिभा को लेकर काफी चर्चाओं में रहे हैं।

इसे भी पढ़ें
Knowledge News: बिना पासपोर्ट दुनिया में कहीं भी जा सकते हैं ये तीन लोग, जानें कौन-कौन

भारत में कौन करता है CDS की नियुक्ति, जानें आजादी से अब तक भारतीय सेना में 8 बड़े बदलाव

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios