Asianet News HindiAsianet News Hindi

Knowledge News: बिना पासपोर्ट दुनिया में कहीं भी जा सकते हैं ये तीन लोग, जानें कौन-कौन

दुनिया में 102 साल पहले पासपोर्ट की व्यवस्था शुरू हुई थी। 1924 में अमेरिका ने अपनी पासपोर्ट प्रणाली बनाई थी। दुनिया में कहीं भी जाने के लिए पासपोर्ट की आवश्यकता पड़ती है। देश की यात्रा करने वाले शख्स का यह आधिकारिक पहचान पत्र होता है।

Knowledge News who can travel any where in world without passport stb
Author
First Published Sep 29, 2022, 1:17 PM IST

करियर डेस्क : दुनिया में 200 से ज्यादा देश हैं. इनमें से कहीं आने जाने के लिए पासपोर्ट (Passport) की जरूरत पड़ती है। राष्ट्रपति हो या फिर प्रधानमंत्री उन्हें भी किसी दूसरे देश जाने के लिए डिप्लोमेटिक पासपोर्ट की आवश्यकता पड़ती है लेकिन दुनिया में तीन लोग ऐसे भी हैं, जो कहीं चले जाए, उन्हें पासपोर्ट की जरूरत ही नहीं पड़ती। न तो उनकी सेक्योरिटी चेकिंग होती है और ना ही किसी अन्य प्रक्रिया से उन्हें गुजरना पड़ता है। उल्टे वे जहां भी जाते हैं, लाव-लश्कर के साथ उनका भव्य स्वागत किया जाता है। आइए जानते हैं कौन हैं ये तीन लोग...

ये हैं सबसे खास तीन लोग
ब्रिटेन के किंग और जापान के राजा और रानी ये तीन लोग इतने खास हैं कि दुनिया में कहीं भी बिना पासपोर्ट जा सकते हैं. ब्रिटेन में चार्ल्स के राजा बनने से पहले ये पावर क्वीन एलिजाबेथ के पास था। ये तीनों लोग दुनिया में कहीं भी जाते हैं तो प्रोटोकॉल के तहत उनका सम्मान होता है। कहीं भी आने जाने की अनुमति दी जाती है। कोई रोकटोक नहीं होता और उनका खास ख्याल रखा जाता है।

ब्रिटेन की रानी के पास नहीं है ये विशेषाधिकार
क्वीन एलिजाबेथ के बाद ब्रिटेन के किंग चार्ल्स बने हैं। दुनिया में कहीं भी बिना पासपोर्ट आ जा सकते हैं लेकिन अगर उनकी पत्नी उनके साथ हैं तो ये अधिकारी उनके पास नहीं है। उनके लिए पासपोर्ट की आवश्यकता पड़ती है। उन्हें डिप्लोमेटिक पासपोर्ट रखना होता है। रॉयल फैमिली के मुख्य सदस्यों को भी अपने पास डिप्लोमेटिक पासपोर्ट रखना होता है। 

जापान के सम्राट-सम्राज्ञी
जापान के राजा रानी यानी सम्राट और सम्राज्ञी को भी ये विशेषाधिकार हासिल है। इस वक्त जापान के सम्राट नारूहितो और उनकी पत्नी मसाको ओवादा सम्राज्ञी हैं। नाहूहितो ने पिता अकीहितो के राजगद्दी छोड़ने के बाद यह पद संभाला है। जब उनके पिता जापान के सम्राट थे, तब उन्हें और उनकी पत्नी को कहीं भी जाने के लिए पासपोर्ट की आवश्यकता नहीं पड़ती थी लेकिन अब पद छोड़ने के बाद उन्हें विदेश जाने के लिए डिप्लोमेटिक पासपोर्ट रखना होगा। दरअसल, जापान के विदेश मंत्रालय ने साल 1971 में सम्राट और सम्राज्ञी के लिए यह व्यवस्था कि अब उन्हें कहीं भी आने-जाने के लिए पासपोर्ट नहीं रखना होगा।

क्यों नहीं लगता पासपोर्ट
जापान दुनिया के तमाम देशों को एक आधिकारिक पत्र भेजता है, जिसमें लिखा होता है कि उनके सम्राट और सम्राज्ञी को बिना पासपोर्ट आने-जाने की इजारत रहे। यह आधिकारिक पत्र ही उनका पासपोर्ट माना जाए। हालांकि जब राजा-रानी किसी देश जाते हैं तो इसकी जानकारी जापान को पहले ही उस देश को देनी होती है। 

प्रधानमंत्री-राष्ट्रपति के लिए क्या है व्यवस्था
दुनिया के किसी भी देश के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री जब किसी दूसरे देश की यात्रा पर जाते हैं तो उ्हें डिप्लोमेटिक पासपोर्ट अपने पास रखना होता है। मेजबान देश उनकी प्रिविलेज का पूरा ख्याल ऱखता है। उन्हें फिजिकली तौर पर आप्रवासन विभाग के अधिकारियों के सामने नहीं जाना पड़ता और उनकी सुरक्षा जांच भी नहीं होती। भारत में ये दर्जा प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और उप-राष्ट्रपति को प्राप्त है।

इसे भी पढ़ें
शराब की तरह होता है इस जानवर का दूध, पीते ही छा सकता है नशा! UPSC इंटरव्यू में पूछे जाते हैं ऐसे भी सवाल

IAS इंटरव्यू के ट्रिकी सवाल : लड़की के शरीर की वो चीज जिसे हम खा सकते हैं? कैंडिडेट ने दिया सॉलिड जवाब

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios