Asianet News HindiAsianet News Hindi

UPSC Topper: किसान के बेटे की IES Exam 2020 में आई सेकंड रैंक, बताया- कोरोना में कैसे की पढ़ाई?

तनवीर खान जेआरएफ पास करने के बाद एम.फिल की पढ़ाई के लिए कोलकाता के इंस्टीट्यूट ऑफ डेवलपिंग स्टडीज चले गए। उन्होंने कहा कि कड़ी मेहनत और दृढ़ संकल्प ही उनकी सफलता की कुंजी है।

IES Exam 2020 son of a farmer from Jammu and Kashmir Tanveer Ahmed Khan got the second rank
Author
New Delhi, First Published Aug 1, 2021, 3:31 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. संघ लोक सेवा आयोग ने हाल ही में इंडियन इकोनॉमी सर्विस एग्जामिनेशन 2020 का रिजल्ट घोषित किया, जिसमें एक किसान के बेटे की सेकंड रैंक आई। UPSC ने अपने IES परीक्षा 2020 के परिणाम 31 जुलाई 2021 को जारी किए, जिसमें जम्मू-कश्मीर के कुलग्राम में रहने वाले तनवीर अहमद खान ने दूसरा स्थान प्राप्त किया। 

सरकारी स्कूल से की पढ़ाई
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, तनवीर ने अपनी प्रारंभिक पढ़ाई सरकारी स्कूल से की। इसके बाद उन्होंने गवर्नमेंट हाई स्कूल वाल्टेंगू में पढ़ाई की। उन्होंने 2016 में आर्ट से ग्रेजुएशन किया। ये पढ़ाई भी उन्होंने सरकारी डिग्री कॉलेज अनंतनाग से की। 

UPSC Interview: अमरनाथ गुफा में शिवलिंग का बनना दैवीय है या भौगोलिक, कैडिडेट ने दिया धांसू जवाब

upsc interview: ताजमहल पहले कहां बनने वाला था, कैंडिडेट ने इतिहास बताकर पाई हाईप्रोफाइल जॉब

उपराज्यपाल ने दी बधाई
जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिम्हा ने तनवीर को उनकी सफलता पर बधाई दी। स्थानीय लोगों के मुताबिक, तनवीर रिसर्च फेलो रहे हैं। वे हमेशा पढ़ाई में आगे रहे हैं। उन्होंने कश्मीर यूनिवर्सिटी एंट्रेंस एग्जाम में तीसरी रैंक हासिल की थी। इसके बाद पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए इकोनॉमिक्स चुना। 

कड़ी मेहनत से मिली सफलता
तनवीर खान जेआरएफ पास करने के बाद एम.फिल की पढ़ाई के लिए कोलकाता के इंस्टीट्यूट ऑफ डेवलपिंग स्टडीज चले गए। उन्होंने कहा कि कड़ी मेहनत और दृढ़ संकल्प ही उनकी सफलता की कुंजी है।

कोविड के दौरान कैसे की तैयारी
तनवीर ने कहा, कोविड के दौरान मैंने खुद को अपने कमरे की चार दीवारों तक सीमित कर लिया। एम.फिल करते हुए आईईएस की तैयारी शुरू कर दी। मैंने कभी भी कोविड से अपनी पढ़ाई प्रभावित नहीं होने दी। IES 2020 परीक्षा को पास करने का यह उनका पहला प्रयास था।

खान ने कहा कि मैंने कभी उम्मीद नहीं खोई। उन्होंने एजुकेशन सिस्टम को प्रोग्रेसिव बनाने के लिए सरकार की तारीफ की। उन्होंने जोर देकर कहा कि उन्हें लीक से हटकर सोचना चाहिए और पारंपरिक विकल्पों की तुलना में वैकल्पिक करियर विकल्पों के लिए जाना चाहिए।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios