Asianet News Hindi

JEE Advance Exam 2021 Dates out: 75 प्रतिशत अंकों का मानडंद खत्म, IIT खड़गपुर करेगा आयोजन

रमेश पोखरियाल ने बताया, इस बार आईआईटी में दाखिले के लिए 75 प्रतिशत अंकों का मानदंड खत्म कर दिया है। जेईई एडवांस्ड 2021 परीक्षा (JEE Advance Exam 2021) को इस साल आईआईटी खड़गपुर (IIT Khadagpur) आयोजित कराएगा।

jee advanced exam 2021 dates-announced by union education minister ramesh pokhriyal announced kpt
Author
New Delhi, First Published Jan 8, 2021, 2:36 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

करियर डेस्क. जेईई एडवांस परीक्षा (JEE Advance Exam 2021) की तारीखों का ऐलान कर दिया गया है। इसका छात्रों को लंबे समय से इसका इंतजार था। बता दें, जेईई एडवांस की परीक्षा 3 जुलाई 2021 को आयोजित की जाएगी। गुरुवार शाम केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (IITs) में बैचलर डिग्री में एडमिशन के लिए योग्यता मानदंड (Eligibility Criteria) की भी घोषणा की।

उन्होंने बताया कि इस बार आईआईटी में दाखिले के लिए 75 प्रतिशत अंकों का मानदंड खत्म कर दिया है। रमेश पोखरियाल ने इससे पहले ट्वीट कर बताया था कि वे शाम 6 बजे जेईई एडवांस की परीक्षा की तारीख और आईआईटी में स्नातक पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए योग्यता मानदंड के बारे में बताएंगे। इससे पहले जेईई मेन (JEE Main) परीक्षा की तारीखों का ऐलान किया जा चुका है।

 

 

IIT खड़गपुर आयोजित करवाएगा परीक्षा

जेईई एडवांस्ड 2021 परीक्षा (JEE Advance Exam 2021) को इस साल आईआईटी खड़गपुर (IIT Khadagpur) आयोजित कराएगा। पिछले साल की बात करें, तो उस वक्त इस परीक्षा का आयोजन आईआईटी दिल्ली ने कराया था, जिसमें करीब 2.45 लाख छात्रों ने क्वालिफाई किया था। कोरोना की वजह से इस बार परीक्षाओं के शेड्यूल में बदलाव किया गया है। आमतौर पर जेईई एडवांस्ड की परीक्षा जेईई मेन के रिजल्ट के कुछ सप्ताह बाद आयोजित की जाती थी, लेकिन इस बार कोरोना की वजह से बड़े बदलाव देखने को मिले हैं।

कोरोना के कारण बदला IIT एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया

जेईई एडवांस परीक्षा की रैंकिंग के आधार पर आईआईटी में बैचलर डिग्री कोर्स में एडमिशन दिया जाता है, लेकिन इस बार कोरोना महामारी के कारण कई महीनों तक स्कूल बंद रहे। इसकी वजह से सीबीएसई समेत कई केंद्रीय और राज्यों के बोर्ड ने बोर्ड परीक्षाओं के लिए सिलेबस में 30 प्रतिशत तक की कटौती कर दी है। इसके अलावा जेईई की तैयारी कर चुके छात्र भी इस बार कोरोना की वजह से बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। वे सोशल मीडिया के जरिए शिक्षा मंत्री से रियायत की मांग कर रहे हैं। इन सबको देखते हुए शिक्षा मंत्री ने एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया में बदलाव किया है।

साल में 4 बार आयोजित होगी परीक्षा

इस बार जेईई मेन्स (JEE Mains) परीक्षा साल में चार बार आयोजित की जाएगी। एग्जाम फरवरी, मार्च, अप्रैल और मई के महीने में कंडक्ट कराया जाएगा। एक कैंडिडेट सभी चार अटेम्पट्स दे सकता है। यानी एक कैंडिडेट को एक साल में चार अटेम्प्ट्स देने का मौका मिलेगा।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios