Asianet News HindiAsianet News Hindi

सिर्फ सोने के मिलेंगे 1 लाख रुपए, जानें कैसी है यह नौकरी

अगर कोई आपसे कहे कि सिर्फ सोने की नौकरी करनी है और सैलरी मिलेगी एक लाख रुपए तो आप इस पर यकीन नहीं करेंगे। आप सोचेंगे कि यह कोई मजाक है। लेकिन यह मजाक नहीं, पूरी तरह से सच है।

sleep 9 hours a night and get Rs 1 lakh salary, learn how to apply
Author
Bengaluru, First Published Dec 3, 2019, 8:55 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

करियर डेस्क। क्या आप इस बात पर यकीन कर सकते हैं कि कोई कंपनी सिर्फ सोने की नौकरी दे रही है। आप सोचेंगे कि यह एक मजाक है। लेकिन यह मजाक नहीं, पूरी तरह से सच है। बेंगलुरु का एक स्टार्टअप सिर्फ सोने के लिए एक लाख रुपए सैलरी की नौकरी दे रहा है। आज जहां एक तो नौकरी आसानी से मिलती नहीं और मिलती भी है तो 9 घंटे की शिफ्ट करने के बाद चैन की नींद ले पाना मुश्किल हो जाता है, क्योंकि टार्गेट का प्रेशर और बॉस की झिड़की से हमेशा टेंशन बनी रहती है। ऐसी स्थिति में अगर कोई कंपनी सिर्फ 9 घंटे चैन से सोने का जॉब ऑफर करती है तो किसे हैरानी नहीं होगी। 

बता दें कि बेंगलुरु की एक कंपनी अपने एक इंटर्नशिप प्रोग्राम के तहत युवाओं को यह ऑफर दे रही है। इसमें 100 दिनों तक रोज रात में 9 घंटे की नींद लेनी होगी। लोग सोच सकते हैं कि यह काम बेहद आसान है, लेकिन वास्तव में ऐसा है नहीं। आज के समय में ऐसे लोग शायद ही मिलें जो लगातार 9 घंटे की नींद ले सकें। कंपनी लोगों के स्लीपिंग पैटर्न की स्टडी करने के लिए इंटर्न की भर्ती करना चाह रही है। 

यह कंपनी है वेकफिट इनोवेशन प्राइवेट लिमिटेड। दरअसल, इसे अभी एक स्टार्टअप के तौर पर शुरू किया गया है। यह नींद से जुड़ी समस्याओं के समाधान के लिए प्रोडक्ट्स तैयार करती है। यह एक स्लीपिंग सॉल्यूशन कंपनी है। कंपनी का मकसद ऐसे प्रोडक्ट्स तैयार करना है, जिनकी मदद से लोग आरामदायक नींद ले सकें। फिलहाल, कंपनी वेकफिट स्लीप इंटर्नशिप प्रोग्राम चला रही है, जिसके लिए उन लोगों से एप्लिकेशन मांगे गए हैं जो रोज 9 घंटे की नींद ले सकें और किसी भी परिस्थिति में सोने में सक्षम हों। 

कंपनी जिन लोगों को सिलेक्ट करेगी, उन्हें एक वीडियो बना कर भेजना होगा कि वे किस तरह और कितने अच्छे तरीके से सो सकते हैं। जो कैंडिडेट नींद लेने की इस जॉब के लिए चुने जाएंगे, उन्हें लगातार 100 दिन तक लैपटॉप से दूर रहना होगा। सोने के लिए कंपनी उन्हें गद्दे उपलब्ध कराएगी और सोते वक्त उन्हें पाजामा पहनना होगा। इस दौरान उनके स्लीप पैटर्न को लेकर रिसर्च किया जाएगा। साथ ही, उन्हें स्लीप ट्रैकर और एक्सपर्ट्स के साथ काउंसलिंग सेशन में भी शामिल होना होगा। कंपनी के डायरेक्टर का कहना है कि आज ज्यादा लोग नींद नहीं आने की बीमारी से पीड़ित होते जा रहे हैं। कंपनी का उद्देश्य इस समस्या के हल के लिए काम करना है। अगर लोग अच्छी नींद नहीं ले सकते तो फिर वे ढंग से काम भी नहीं कर सकते और कई तरह की हेल्थ प्रॉब्लम्स के शिकार हो जाते हैं। इस जॉब के लिए अप्लाई करने के लिए कैंडिडेट्स कंपनी की वेबसाइट https://www.wakefit.co/sleepintern/ पर रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios