Asianet News Hindi

10वीं और 12वीं के छात्रों को नहीं देनी होगी सभी विषयों की परीक्षा, मई में ही आ सकता है CBSE का रिजल्ट

कोरोना वायरस का कहर दुनियाभर में फैला हुआ है और इस बीच देश में CBSE के स्टूडेंट्स को अपनी परीक्षा की तारीख का इंतजार है। कोरोना वायरस के चलते इन छात्रों की परीक्षाएं आगामी आदेश तक टाल दी गई हैं।

The students of 10th and 12th will not have to give the examination of all subjects, the board can release the result only in May kpb
Author
New Delhi, First Published Apr 24, 2020, 11:15 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कोरोना वायरस का कहर दुनियाभर में फैला हुआ है और इस बीच देश में CBSE के स्टूडेंट्स को अपनी परीक्षा की तारीख का इंतजार है। कोरोना वायरस के चलते इन छात्रों की परीक्षाएं आगामी आदेश तक टाल दी गई हैं। मार्च में पूरे देश में लॉकडाउन लगने के बाद उम्मीद थी कि 14 अप्रैल को लॉकडाउन खुलने के बाद CBSE बचे हुए विषयों की परीक्षा लेगा और जल्द ही रिजल्ट भी जारी करेगा। हालांकि ऐसा नहीं हुआ और देश में लॉकडाउन 3 मई तक बढ़ा दिया गया है। सरकार के इस फैसले के बाद केन्द्रीय शिक्षा बोर्ड ने भी अपने फैसले में बदलाव किया है। 

सीबीएसई बोर्ड ने एक नोटिफिकेशन भी जारी किया था, जिसमें परीक्षाओं से जुड़ी जानकारी दी गई थी। इसके बाद से यह तो साफ है कि विदेशों में केन्द्रीय शिक्षा बोर्ड कोई परीक्षा नहीं कराने वाला है। इसके अलावा भारत में भी छात्रों को गैर जरूरी विषयों की परीक्षा नहीं देनी पड़ेगी। छात्रों को अगली कक्षा में भेजने के लिए जिन विषयों की परीक्षा जरूरी है सिर्फ उन्हीं विषयों की परीक्षा ली जाएगी। 

मई में ही हो सकते हैं एग्जाम 
CBSE बोर्ड लॉकडाउन की स्थितियों को देखने के बाद 10वीं और 12वीं के लिए परीक्षाओं की तारीखों का एलान करेगा। एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगर मई के महीने में ही परीक्षाएं करा ली जाती हैं तो इसी महीने छात्रों को उनका रिजल्ट भी मिल सकता है। बोर्ड ने पहले ही सिर्फ जरूरी विषयों का एग्जाम लेने के एलान किया है। यह फैसला सिर्फ इसी सत्र के लिए लिया गया है। आगे भी ऐसे हालात बनने पर बोर्ड किसी दूसरे विकल्प पर भी गौर करेगा।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios