Asianet News HindiAsianet News Hindi

नेपोटिज्म पर सैफ अली खान का खुलासा, बोले-मैं भी हो चुका हूं शिकार, छीन लिए गए थे कई प्रोजेक्ट्स

सैफ अली खान बॉलीवुड में लंबे समय से एक्टिव हैं और उनके परिवार के इस इंडस्ट्री के साथ बेहतरीन कॉन्टैक्ट्स देखने को मिलते हैं। इन सब के बावजूद सैफ अली खान का कहना है कि वो खुद नेपोटिज्म का शिकार हो चुके हैं।

Saif Ali khan speaks on Nepotism Actor said he faced this Problem KPY
Author
Mumbai, First Published Jul 2, 2020, 2:25 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड के बाद बॉलीवुड में नेपोटिज्म को लेकर बहस तेज हो गई है। हर कोई अपनी-अपनी आपबीती सुना रहा है। इस मुद्दे पर अभी तक सिर्फ कंगना रनोट जैसे चुनिंदा सितारों की आवाज सुनाई दे रही थी। अब इंडस्ट्री के दिग्गजों कलाकारों ने भी आगे आकर नेपोटिज्म पर अपने विचार रखने शुरू कर दिए हैं। वहीं, कुछ अपनी आपबीती सुना रहे हैं। ऐसे में सैफ अली खान ने नेपोटिज्म पर चौंकाने वाला बयान दिया है। 

नेपोटिज्म का शिकार हो चुके हैं सैफ 

सैफ अली खान बॉलीवुड में लंबे समय से एक्टिव हैं और उनके परिवार के इस इंडस्ट्री के साथ बेहतरीन कॉन्टैक्ट्स देखने को मिलते हैं। इन सब के बावजूद सैफ अली खान का कहना है कि वो खुद नेपोटिज्म का शिकार हो चुके हैं। उनके करियर पर भी नेपोटिज्म का असर देखने के लिए मिला है। सैफ ने एक वेबिनार में ये चौकाने वाली बातें बताई हैं। 

सैफ ने इस दौरान कहा कि नेपोटिज्म का शिकार तो वो भी हुए हैं, लेकिन किसी को भी इसमें दिलचस्पी नहीं है। बिजनेस ऐसे ही चलता है। उन्होंने कहा कि अब वो उस शख्स का नाम तो नहीं लेंगे लेकिन कई बार ऐसा होता था कि किसी के पिता का फोन आता था कि इसे फिल्म में मत लेना। ये सब होता रहता है और उनके साथ भी हुआ है। वैसे, सैफ खुद इस नेपोटिज्म कल्चर से ज्यादा खुश नहीं हैं। वो इसे ठीक नहीं मानते हैं। उनका कहना था कि किसी विशेष वर्ग को ज्यादा मौके देना और ज्यादा टैलेंटेंड लोगों को छोड़ देना, ये सब ठीक नहीं है। नेपोटिज्म में सबसे बुरा ये होता है कि कई बार काबिल और बेहतरीन कलाकारों को छोड़ उन्हें ले लिया जाता है जो ज्यादा टैलेंटेंड नहीं होते हैं।

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by saif ali khan (@saif_alikan) on Jan 11, 2019 at 6:42pm PST

पंकज-नवाज को लेकर सैफ ने कही ये बात 

सैफ ने सुशांत सिंह राजपूत के निधन पर भी अपनी प्रतिक्रिया दी। सैफ के मुताबिक, सुशांत खुद मानते थे कि इंडस्ट्री में नेपोटिज्म होता है। एक्टर कहते हैं कि इंडस्ट्री में ये संघर्ष तो चलता रहता है। बस इंसान को हमेशा समान अवसर मिलने चाहिए। वहीं, सैफ इस बात पर खुशी जाहिर की है कि कई आउटसाइडर्स ने अपने दम पर बॉलीवुड में एक अलग जगह बनाई है। वो पंकज त्रिपाठी और नवाजुद्दीन की सफलता को देख काफी खुश होते हैं।

बहरहाल, अगर सैफ अली खान के वर्क फ्रंट की बात करें तो वो सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म 'दिल बेचारा' में कैमियो रोल में दिखेंगे। फिल्म में सुशांत के अपोजिट संजना संघी को कास्ट किया गया है। फिल्म को OTT सोशल प्लेटफॉर्म पर 24 जुलाई को रिलीज किया जा रहा है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios