Asianet News Hindi

21 शहीद जवानों के सामने आए नाम, देखिए पूरी लिस्ट, 4 घंटे चली थी नक्सलियों से मुठभेड़

डीजी नक्सल ऑपरेशन अशोक जुनेजा ने बताया कि मुठभेड़ में नक्सलियों को भी काफी नुकसान हुआ है। सूचना के आधार पर 3 से 4 ट्रकों से घायल और मृत नक्सलियों को उनके साथियों ने ट्रांसपोर्ट किया है। 

4 hour encounter with Naxalites, names of martyred soldiers came to light ASA
Author
Bijapur, First Published Apr 4, 2021, 7:37 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

रायपुर (Chhattisgarh) । नक्सल प्रभावित बीजापुर और सुकमा के सीमावर्ती क्षेत्र के जंग में नक्सलियों से हुई मुठभेड़ काफी क्षति पहुंची है। मिसिंग हुए 21 में से 20 जवानों के शवों को एयरफोर्स की मदद से रिकवर कर लिया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ये बात सामने आ रही है कि नक्सलियों ने ही जवानों को 'U शेप एंबुश' में फंसाने की पूरी तैयारी की थी। जिसके लिए वो जवानों को बीच जंगल तक आराम से घुसने दिए थे, फिर उनके ऊपर अटैक किए। बताया जा रहा है कि कुख्यात नक्सली हिडमा को पकड़ने के लिए सुरक्षा बलों के 2000 जवानों की टीम अलग-अलग इलाकों से जंगल के अंदर घुस रही थी। 

चार घंटे चली थी मुठभेड़
CRPF की कोबरा, CRPF बस्तरिया बटालियन, DRG, CF और STF के जवानों की तर्रेम क्षेत्र के सिलगेर के जंगल में जोनागुड़ा के पास शनिवार को नक्सलियों से मुठभेड़ हो गई थी। मुठभेड़ सुबह करीब 12.30 बजे शुरू हुई और शाम करीब 5.30 बजे 4 घंटे तक चली। इस दौरान नक्सलियों ने UGNL, रॉकेट लांन्चर, इंसास और AK-47 से हमला किया था।

लौटते जवानों पर नक्सलियों ने दूर से हमला किया
सीआरपीएफ के डीजी कुलदीप सिंह ने बताया कि नक्सलियों ने लौटते हुए जवानों पर हमला किया। दोरनागुड़ा और टेकुलगुडम की पहाड़ियों के बीच 100 से 200 मीटर की दूरी से नक्सली फायरिंग कर रहे थे। इस दौरान जवान उनके एंबुश को तोड़ते हुए आगे बढ़े। 

नक्सलियों को भी हुआ काफी नुकसान
डीजी नक्सल ऑपरेशन अशोक जुनेजा ने बताया कि मुठभेड़ में नक्सलियों को भी काफी नुकसान हुआ है। सूचना के आधार पर 3 से 4 ट्रकों से घायल और मृत नक्सलियों को उनके साथियों ने ट्रांसपोर्ट किया है। 

देखिए कहां के हैं शहीद जवान

 ये भी पढ़ें:    नक्सली हमला: जवानों के शव से जूते-कपड़े तक निकाल ले गए नक्सली..इस हालत में मिले भारत मां के वीर सपूत

                   ये है कुख्यात नक्सल कमांडर हिडमा, 24 जवानों की शहादत के पीछे है जिसका हाथ..जानिए पूरी कुंडली

                  10 साल के इतिहास में छत्तीसगढ़ के सबसे बड़े 10 नक्सली हमले, जानिए कब कितने जवान हुए शहीद

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios