Vaccine Update : स्पुतनिक V का दावा - फाइजर की तुलना में यह ओमीक्रोन के खिलाफ दो गुना ज्यादा असरदार

| Jan 20 2022, 07:14 PM IST

Vaccine Update : स्पुतनिक V का दावा - फाइजर की तुलना में यह ओमीक्रोन के खिलाफ दो गुना ज्यादा असरदार

सार

Sputnik V protection against Omicron : रिपोर्ट के अनुसार एक तुलनात्मक अध्ययन से पता चलता है कि स्पुतनिक वी ने फाइजर वैक्सीन के मुकाबले ओमीक्रोन से लड़ने वाली दो गुना एंटीबॉडी बनाई। वैक्सीनेशन के तीन महीने बाद यह फाइजर की वैक्सीन से 2.6 गुना अधिक प्रभावशाली पाई गई। 

नई दिल्ली। रूस द्वारा निर्मित कोरोना वैक्सीन (Covid 19 vaccine) ओमीक्रोन के खिलाफ ज्यादा असरदार साबित हुई है। रूस और इटली के एक संयुक्त के रिसर्च में सामने आया है कि स्पुतनिक ने फाइजर की वैक्सीन के खिलाफ ज्यादा मजबूत सुरक्षा प्रदान की। यह अध्ययन स्पुतनिक वैक्सीन के निवेशकों के सहयोग से इटली के स्पैलनजानी इंस्टीट्यूट में किया गया।  

उच्च स्तर की सुरक्षा और मजबूत एंटीबॉडी बनाती है 
रिपोर्ट के अनुसार एक तुलनात्मक अध्ययन से पता चलता है कि स्पुतनिक वी ने फाइजर वैक्सीन के मुकाबले ओमीक्रोन से लड़ने वाली दो गुना एंटीबॉडी बनाई। वैक्सीनेशन के तीन महीने बाद यह फाइजर की वैक्सीन से 2.6 गुना अधिक प्रभावशाली पाई गई। रिपोर्ट में कहा गया है अध्ययन से पता चलता है कि स्पुतनिक वी उच्च स्तर की सुरक्षा से जुड़े मजबूत एंटीबॉडी का निर्माण कर ओमीक्रोन वैरिएंट को निष्क्रिय कर देता है। 

Subscribe to get breaking news alerts

ओमीक्रोन के खिलाफ मजबूत भूमिका निभाएगी
रूस के गमालेया नेशनल रिसर्च सेंटर फॉर एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी के निदेशक अलेक्जेंडर गिंट्सबर्ग ने कहा कि वैज्ञानिक डेटा साबित करते हैं कि स्पुतनिक V में अन्य टीकों की तुलना में ओमीक्रोन वायरस को निष्क्रिय करने की अधिक क्षमता है। यह वैक्सीन ओमीक्रोन संस्करण के खिलाफ वैश्विक लड़ाई में एक प्रमुख भूमिका निभाएगी। अध्ययन में दावा किया गया है कि स्पुतनिक वी फाइजर वैक्सीन के विपरीत अलग-अलग एपिटोप्स के लिए एंटीबॉडी के व्यापक पूल का
निर्माण करती है। यह स्पाइक प्रोटीन का इस्तेमाल कर ओमीक्रोन के म्यूटेशन से प्रभावित हुए एपिटोप्स को सुरक्षा देती है।

बूस्टर के रूप में इस्तेमाल हो सकती है स्पुतनिक V
कई बार दावा किया गया है स्पुतनिक V दुनियाभर की हर वैक्सीन के बाद बूस्टर डोज के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। कई अध्ययनों में बताया गया है कि यह ओमीक्रोन और अन्य उत्परिवर्तन के खिलाफ बेहतर सुरक्षा देता है।अर्जेंटीना में 5 प्रांतों में आयोजित एस्ट्राजेनेका, सिनोफार्म, मॉडर्न और कैन्सिनो की वैक्सीन के साथ स्पुतनिक लाइट के 'मिक्स एंड मैच' ट्रायल से भी साबित हुआ है कि स्पुतनिक लाइट घरेलू आहार की तुलना में मजबूत एंटीबॉडी और टी-सेल प्रतिक्रिया उत्पन्न करता है।  

यह भी पढ़ें
Bharat Biotech का दावा: COVAXIN अब यूनिवर्सल वैक्सीन, बड़ों और बच्‍चों के लिए एक ही टीके का होगा इस्‍तेमाल
स्पूतनिक वी और उसका बूस्टर डोज ओमीक्रोन में भी असरदार, 6 से 8 महीने बाद भी मिली एंटीबॉडी