Asianet News Hindi

1986 में आज के दिन ही विलेन बन गए थे चेतन शर्मा, टूट गया था भारतीयों फैंस का दिल

आखिरी गेंद में पाकिस्तान को जीत के लिए 4 रनों की जरूरत थी और गेंदबाज थे चेतन शर्मा। भारतीयों को उम्मीद थी कि चेतन आखिरी गेंद में बाउंड्री नहीं लगने देंगे, पर मिंयादाद ने उनकी आखिरी गेंद पर छक्का जड़ दिया और भारत यह मैच हार गया। यहीं से चेतन शर्मा भारतीय फैंस के लिए विलेन बन गए थे। 

Chetan Sharma had become a villain on this day in 1986, the heart of all Indians was broken KPB
Author
New Delhi, First Published Apr 18, 2020, 2:55 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. साल 1986 में अप्रैल का महीना था और ऑस्ट्रेलिया एशिया कप खेला जा रहा था। 18 अप्रैल के दिन फाइनल मैच में भारत और पाकिस्तान की टीमें पहुंची थी। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए पाकिस्तान के सामने 246 रनों का लक्ष्य रखा। पाक टीम 61 रनों पर 3 विकेट गंवा चुकी थी, पर जावेद मिंयादाद के इरादे कुछ और ही थे। उन्होंने बेहतरीन शतक लगाते हुए अपनी टीम को जीत के दरवाजे पर ला खड़ा किया था। आखिरी गेंद में पाकिस्तान को जीत के लिए 4 रनों की जरूरत थी और गेंदबाज थे चेतन शर्मा। भारतीयों को उम्मीद थी कि चेतन आखिरी गेंद में बाउंड्री नहीं लगने देंगे, पर मिंयादाद ने उनकी आखिरी गेंद पर छक्का जड़ दिया और भारत यह मैच हार गया। यहीं से चेतन शर्मा भारतीय फैंस के लिए विलेन बन गए थे। 

यह मैच इसलिए भी खास था क्योंकि भारत और पाकिस्तान की टीमें चिर प्रतिद्वंदी मानी जाती हैं। दोनों देशों ने पहले भी कई मैच खेले थे और अब फाइनल में आमने सामने थे, जिस टीम ने यह मैच जीता खिताब उसके नाम और असली विजेता वही माना जाएगा। भारतीय टीम पहले बल्लेबाजी करने उतरी थी। सुनील गावस्कर के 94 रन और के श्रीकांत के 75 रनों की बदौलत टीम इंडिया ने पाकिस्तान के सामने 246 रनों का लक्ष्य रखा। 61 रनों पर 3 विकेट भी गिरा दिए, पर इसके बाद जावेद मिंयादाद ने मैच पलट दिया। उन्होंने 116 रनों की नाबाद पारी खेली और अपनी टीम को जीत दिला दी। 

यूं विलेन बन गए चेतन शर्मा 
चेतन शर्मा भारतीय टीम के प्रमुख तेज गेंदबाजों में से थे। इस टीम में शर्मा कपिलदेव के साथ नई गेंद के साथ गेंदबाजी करते थे। इस मैच में भी उन्होंने 3 विकेट निकाले थे और सभी को उम्मीद थी कि वो आखिरी गेंद पर चौका नहीं खाएंगे। लेकिन शर्मा ने गेंद डाली तो जावेद मिंयादाद ने उस पर छक्का जड़ दिया और पाकिस्तानी फैंस को हमेशा खुशी मनाने का एक लम्हा दे दिया। वहीं भारत के फैंस का दिल टूट चुका था। सभी निराश थे और चेतन से नाराज भी थे। इसी एक गेंद ने उन्हें पसंदीदा गेंदबाज से विलेन बना दिया था। 

ऑस्ट्रेलिया एशिया कप में पाक की बादशाहत 
ऑस्ट्रेलिया एशिया कप अब तक कुल 3 बार ही खेला गया है और पाकिस्तान की टीम ने हर बार खिताब अपने नाम किया है। इस टूर्नामेंट में भारत और पाकिस्तान के अलावा श्रीलंका, बांग्लादेश, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड की टीमें भी शामिल होती हैं। ICC टूर्नामेंट में अक्सर भारत पाकिस्तान पर हावी रहता है, पर इस टूर्नामेंट में पाकिस्तान ना सिर्फ भारत बल्कि ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड जैसी टीमों पर भी हावी रहा है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios